-->

बसंत पंचमी माँ सरस्वती से पाये विद्या बुद्धि का वरदान।

या कुन्देन्दु तुषारहार धवला या शुभ्रवस्त्रावृता। या वीणा वरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना। या ब्रम्हाऽच्युत शंकरप्रभृतिभिर्देवैःसदावन्दिता। सां मां पातु सरस्वती भगवती निःशेष जाडयापहा।। नारी तू नारायणी सृष्टि में देवी के तीन रूपों की पूजा की जाती है-1:- महालक्ष्मी 2:-महासरस्वती 3:-महाकाली महासरस्वती के पूजन से ज्ञान, विद्या, बुद्धि का वरदान मिलता है, इसके अलावा संगीत, कला और अध्यात्म का आशीर्वाद भी मां सरस्वती प्रदान करती है, यदि आपकी कुंडली में शिक्षा बाधा के योग है या शिक्षा में मन ना लगने की समस्या है तो आप मां सरस्वती की आराधना पूजा से इस समस्या से मुक्ति पा सकते हैं।। माघ शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को विद्या बुद्धि की देवी मां सरस्वती की उपासना की जाती है इसी उपासना के पर्व को बसंत पंचमी कहते हैं शुभ काल में से एक होने के कारण इसे अबूझ मुहूर्त कहते हैं, ये अबूझ मुहूर्त तीन होते हैं- 1:- बसंत पंचमी 2:-अक्षय तृतीया 3:-देवोत्थानी एकादशी। इस अबूझ मुहूर्त में आप कोई भी शुभ कार्य कर सकते हैं- जैसे- विवाह, निर्माण कार्य, मुंडन,कर्णवेध संस्कार, ये मास ऋतुओं का संधिकाल होता है, सर्दी के साथ ही हल्की- हल्की गर्मी की शुरुआत भी इसी मास में होने के कारण इसे बसंत कहते हैं।। ज्ञान और विज्ञान का वरदान दोनों ही बसंत पंचमी मां सरस्वती की कृपा से प्राप्त कर सकते हैं ,इस बार बसंत पंचमी का शुभ मुहूर्त- 30 जनवरी 2020 गुरुवार को पड़ रहा है, बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती प्रकट हुई थी, इस कारण इसे बसंत पंचमी के रूप में मनाया जाता है ।। पूजा विधि:- इस दिन सुबह सफेद या पीले वस्त्र धारण कर पूर्व या उत्तर दिशा की तरफ मुंह करके मां सरस्वती का चित्र जिसमें मां सरस्वती श्वेत वस्त्र पहने हाथ में वीणा लिए कमल के पुष्प पर बैठी हो,स्थापित करे और अपने कलम,कापी,किताब,वाद्ययंत्र माँ के फोटों के पास रख दें।। पूजा सूर्योदय के ढाई घंटे बाद या सूर्यास्त के ढाई घंटे बाद करें ।। पहलें गणेश का पूजन करें फिर मां सरस्वती का धूप दीप चंदन आदि से पूजन करें। पूजन में सफेद चंदन और पीले, सफेद फूल,पीले फल अर्पण करें ,प्रसाद में मिश्री, दही ,मखाना, केशर बनी खीर मां को अर्पण करें फिर सरस्वती वंदना करें।। इसके बाद मां के दो विशेष बीज मंत्रों में से एक मंत्र का जाप स्फटिक की माला से तीन माला जाप करें- - 1:-ऊँ ऐं नमः 2:-ऊँ सरस्वत्यै नमः इसके साथ ही बुद्धि, विद्या, ज्ञान की प्रार्थना भी करें,जाप के बाद मां का प्रसाद ग्रहण करें।। विशेष उपाय ---- एकाग्रता हेतु:- बसंत पंचमी सुबह सरस्वती वंदना का पाठ करें,और हर बुधवार सफेद फूल मां सरस्वती को चढ़ाए ।। सुनने या बोलने की समस्या:- हो तो सोने या पीतल के चौकोर टुकड़े पर ऐं लिखवा कर माँ के चित्र पर चढ़ाकर पूजन कर लाल धागे में पहने ।। संगीत कला:- संगीत कला के क्षेत्र में अगर आप सफलता पाना चाहते तो केसर को पानी में घिसकर मां सरस्वती को अर्पण कर उसी चंदन से अपने जीभ पर ऐं लिखवाए- मां,पंडित या गुरू से --लिखवाने वाले जातक अशुद्ध खाने पीने की चीजों का सेवन ना करें।। कुंडली में अगर बुध कमजोर हो तो बुद्धि कमजोर हो जाती है, ऐसे में मां सरस्वती को हरे रंग फल अर्पण करें ।। कुंडली में अगर गुरु कमजोर हो तो शिक्षा प्राप्त करने में बाधा आती है, ऐसे में मां शारदा के समक्ष पीले वस्त्र पहनकर पीले फूल,फल मां शारदा को अर्पण करें व मंत्र जाप करें।। शुक्र कमजोर होने पर मन चंचल होता है, जिससे करियर से मन भटक जाता है, ऐसे में मां शारदा के सफेद वस्त्र धारण कर सफेद फूल, मीठा अर्पण करें।। राशि अनुसार उपाय:- मेष राशि:- वाले जातक मां सरस्वती को सफेद फूल और सफेद मीठा चढ़ाएं ।। वृषभ राशि:- वाले घर में सुगंधित इत्र का छिड़काव करें । मिथुन राशि:- वाले जातक अशोक के पत्तों का बंदनवार मुख्य द्वार पर लगाएं।। कर्क राशि:- वाले जातक के केशर मिश्रित खीर मां सरस्वती को अर्पण करें व ग्रहण करें।। सिंह राशि:-वाले जातक नारंगी और लाल वस्त्र का दान करें ।। कन्या राशि:- वाले जातक घर में सुगंधित इत्र का छिड़काव करें।। तुला राशि:-वाले जातक के केशर के खीर का भोग सरस्वती को चढ़ाए व ग्रहण करें।। वृश्चिक राशि:-वाले जातक सफेद पुष्प सफेद मीठा मां सरस्वती को चढ़ाएं।। धनु राशि:-वाले जातक हल्दी मिला जल सूर्य को अर्पण करें।। मकर राशि:-वाले जातक आम या अशोक का बंदनवार मुख्य द्वार पर लगाएं।। कुंभ राशि:-वाले जातक मीठी चीजें लोगों में बांटे।। मीन राशि:-वाले जातक पीले वस्त्र धारण करें।। राशि अनुसार कलम प्रयोग:- मेष राशि:- वाले जातक पीले रंग के कलम मां सरस्वती को अर्पण कर पूजाकर पूरे वर्ष प्रयोग करें।। वृषभ राशि:- वाले जातक नीले रंग का कलम माँ सरस्वती को चढ़ाकर पूजनकर पूरे वर्ष प्रयोग करें।। मिथुन राशि:- वाले जातक नीले रंग का कलम माँ सरस्वती को अर्पण कर पूजनकर पूरेवर्ष प्रयोग करें।। कर्क राशि:- वाले जातक पीला रंग का कलम माँ सरस्वती के चित्र पर अर्पण कर पूजनकर पूरे वर्ष प्रयोग करें।। सिंह राशि:- वाले जातक मां सरस्वती को लाल रंग का कलम माँ सरस्वती के चित्र पर अर्पण कर पूजनकर पूरे वर्ष प्रयोग करें ।। कन्या राशि:- वाले जातक सफेद रंग का कलम मां सरस्वती को अर्पण कर पूजन कर पूरे वर्ष प्रयोग करें ।। तुला राशि:- वाले जातक हरे रंग का कलम मां सरस्वती के चित्र पर अर्पण पूजन कर पूरे वर्ष प्रयोग करें ।। वृश्चिक राशि:- वाले जातक पीले रंग का कलम मां सरस्वती के चित्र पर अर्पण पूजन कर पूरे वर्ष प्रयोग करें।। धनु राशि:- वाले जातक गुलाबी रंग का कलम माँ सरस्वती के चित्र पर अर्पण पूजन कर पूरे वर्ष प्रयोग करें।। मकर राशि:- वाले जातक आसमानी आसमानी या हरा रंग का कलम मां सरस्वती के चित्र पर अर्पण पूजन कर पूरे वर्ष प्रयोग करें।। कुंभ राशि:- वाले जातक सिल्वर कलर,या बैंगनी रंग का कलम माँ सरस्वती के चित्र पर अर्पण पूजन कर पूरे वर्ष प्रयोग करें।। मीन राशि:- वाले जातक नारंगी रंग का कलम मां सरस्वती के चित्र पर अर्पण पूजन कर पूरे वर्ष प्रयोग करें।। सावधानी :-इस दिन मां सरस्वती की आराधना पूजन करें ,पुस्तक, कापी,या कलम का प्रयोग ना करें।। अपने कलम दूसरे को लिखने या गिफ्ट में ना दें इससे भाग रूठ जाता है।। विशेष उपाय:- पीले रंग के कागज पर,लाल रंग से सरस्वती बीजमंत्र ऐं ( बड़े अक्षरों में ) लिखकर पढ़ने के कमरे में उत्तर दिशा में लगादें ।। आचार्य राज पाण्डेय अयोध्या 6394126276