• 12
  • अक्टू

नवीन वैष्णव अजमेर
अजमेर// कहते हैं कि प्यार अंधा होता है। इसी प्यार में बहकर एक विवाहिता ने अपने देवर के साथ मिलकर पति की हत्या करवा दी। अब पुलिस ने मामले का पर्दाफाश कर विवाहिता, उसके देवर सहित 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। मामला अजमेर के किशनगढ़ थाना क्षेत्र का है।
किशनगढ़ थानाधिकारी बंशीलाल पाण्डर ने बताया कि गत 7 अक्टूबर की मध्य रात्रि में टिकावड़ा निवासी ट्रेक्टर चालक शैतान जाट की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। इसकी सूचना पर मृतक शैतान का पोस्टमार्टम करवाकर जांच शुरू की तो मृतक की पत्नी सीता और मृतक के सगे भाई हंसराज के बयानों में विरोधाभास नजर आया। दोनों को संदिग्ध मानकर पूछताछ की गई तो पहले शैतान की मौत से सदमा लगने की बात कहकर सवाल टालते रहे। जब सख्ती से पूछताछ की तो दोनों टूट गए। उन्होंने कबूला कि वह एक दुसरे से प्यार करने लगे थे और अवैध संबंध भी बन गए थे। इनमें शैतान आड़े नहीं आए, इसके लिए 1 लाख रूपए की सुपारी देकर हत्या करवाई।
छह माह पहले ही हुई थी शादी
पुलिस की जांच में यह भी सामने आया कि मृतक शैतान और हंसराज दोनों की पहली शादी टूट चुकी थी। लगभग छह माह पहले ही दण्ड गांव निवासी सीता से शैतान का दुसरा विवाह हुआ था। सीता का कुछ दिन तो शैतान के साथ सही चला। इसके बाद उसे देवर हंसराज से प्यार हो गया और उसने अपने ही पति को मौत के घाट उतरवा दिया।
लूट का दिया रूप 
थानाधिकारी बंशीलाल पाण्डर ने कहा कि मृतक की पत्नी सीता, भाई हंसराज ने हत्या को लूट का रूप देने का पूरा प्लान बनाया। हत्यारे भाई हंसराज ने किशनगढ़ निवासी राहुल और सुनिल हरिजन से सम्पर्क साधा और एक लाख रूपए में भाई की हत्या करने की सुपारी दी। 7 अक्टूबर की रात्रि को हंसराज खुद अपनी बाईक पर बैठाकर दोनों को लेकर गांव टिकावड़ा आया। यहां सुनसान जगह दोनों को शराब पिलाई और योजना समझाई। इसके बाद हंसराज ने खुद की मां के कमरे का दरवाजा बंद किया और राहुल व सुनिल को लोहे की रॉड दी। इसी रॉड से सिर पर वार करके शैतान जाट की हत्या की गई। बाद में योजना के तहत राहुल व सुनिल मृतक का कमरा बाहर से बंद कर गए और उसकी बाईक भी किशनगढ़ ले गए। मामले का खुलासा करने वाली टीम में एएसआई श्योजीराम, राजकुमार, हैडकॉन्सटेबल जस्साराम, कॉन्सटेबल रामचन्द्र, सुरेश, कैलाश, साईबर टीम प्रभारी हैडकॉन्सटेबल जगमाल दाहिमा, कॉन्सटेबल देवेन्द्र सिंह, आशीष गहलोत, रणवीर सिंह और सुनील मील सहित अन्य थे।
नवीन वैष्णव
(पत्रकार), अजमेर

  • 18
  • अक्टू

इसराना,18 अक्टूबर। उभरती हरियाणवी गायिका व डांसर हर्षिता दहिया को कार सवार दो बदमाशों ने गोलियों से भून डाला। वह पानीपत के इसराना के पास मंगलवार शाम को कार में साथियों संग जा रही थी। हर्षिता को पांच गोलियां लगीं और उसकी मौके पर मौत हो गई। सूचना के बाद पुलिस हमलावरों की तलाश में जुट गई।वारदात इसराना क्षेत्र के चमराड़ा-पुगथला रोड पर हुई।
हर्षिता इसाराना क्षेत्र के गांव चमराड़ा गांव में कार्यक्रम के बाद अपने तीन साथियों संग कार में नरेला लौट रही थी। जांच के दौरान पुलिस को मौके से गोलियों के सात खोल मिले हैं। हत्या की वजह पारिवारिक दुश्मनी, खरखौदा के दो हरियाणवी कलाकारों से कहासुनी या फिर फेसबुक पोस्ट पर कमेंट मानी जा रहा है।
हर्षिता ने 8 अगस्त को फेसबुक पर एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसमें वह कह रही है कि ‘वीडियो हटाने के लिए उस पर दबाव बनाया जा रहा है और उसे जान का खतरा है। मगर वह धमकी देने वाले को बेनकाब कर देगी। उसे अपनी जान की परवाह नहीं।’ सोनीपत के गांव नाहरा-नाहरी की निवासी हर्षिता दहिया फिलहाल अपनी मौसी के घर दिल्ली के नरेला में रह रही थी।
पुलिस पूछताछ में सोनीपत के राठधाना गांव के प्रदीप कुमार ने बताया कि वह गायक, लेखक व कलाकार है। 15 अक्टूबर को सोनीपत के देवीलाल पार्क में कई हरियाणवी कलाकर आए हुए थे। वहीं पर उसकी मुलाकात हर्षिता दहिया, गुमड़ के संदीप पहल उर्फ शैंडी और बल्लभगढ़ की संजय कालोनी की निशा से हुई थी।
उसने बताया कि मंगलवार सुबह आठ बजे संदीप ने उसे कॉल कर बताया कि गाड़ी लेकर इसराना क्षेत्र के चमराड़ा गांव की चौपाल में जाना है। वहां पर युवा किसान जागृति मिशन द्वारा 36 बिरादरी के भाईचारे के लिए कार्यक्रम है। इस पर वह बल्लभगढ़ के पुल के नीचे कार ले गया और वहां से संदीप, निशा और हर्षिता को लेकर गांव में पहुंचा। वहां एक घंटे के कार्यक्रम के बाद उन्होंने गांव की सरपंच सुमन देवी के घर खाना खाया।
उसने बताया कि इसके बाद दोपहर करीब दो बजे वह चारों सोनीपत के लिए चल दिए। उसके साथ आगे की सीट पर संदीप और पीछे की सीट पर हर्षिता और निशा बैठी थी। अचानक पुगथला रोड पर मुर्गी फार्म के पास काले रंग की फोर्ड फिगो सवार दो बदमाशों ने कार अड़ाकर उनकी गाड़ी रुकवा ली। कार से एक बदमाश उतरा और उसने कहा कि उसे हर्षिता से हिसाब चुकता करना है, इसलिए बाकी तीनों कार से उतर कर भाग जाएं, नहीं तो उनकी भी जान जाएगी।
इस पर वह, संदीप व निशा खिड़की खोलकर खेतों की तरफ भाग गए। तभी कार से दूसरा दूसरा बदमाश उतरा और दोनों ने हर्षिता को गोलियों से भून डाला। ग्रामीणों ने वारदात की सूचना पुलिस को दी। पुलिस जांच में हर्षिता की गर्दन पर गोलियों के कई निशान मिले हैं।
एसपी राहुल शर्मा, डीएसपी क्राइम देशराज व एफएसएल की टीम ने भी मौका मुआयना किया। थाना इसराना पुलिस ने प्रदीप कुमार के बयान पर अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। एसपी राहुल शर्मा ने बताया कि हर्षिता की हत्या के कारणों का पता लगाया जा रहा है। हत्यारों की तलाश में सीआइए-1, 2, थाना इसराना और साइबर सेल की टीमें सोनीपत, दिल्ली, रोहतक, खरखौदा व आसपास क्षेत्र में छापामारी कर रही हैं। बुधवार को हर्षिता के पोस्टमार्टम के बाद ही पता चल पाएगा कि उसे कितनी गोलियां लगी हैं।
पुलिस के अनुसार हर्षिता की मां की मौत हो चुकी है। उसकी मां को जीजा ने मार दिया था। जीजा ने उसे व उसकी बहन को भी जान से मारने की धमकी दे रखी थी। हर्षिता की बहन भी जीजा के चंगुल से छूटकर भाग गई थी, जबकि हर्षिता मौसी के घर नरेला रह रही थी।
बल्लभगढ़ की निशा ने बताया कि वह तीन दिन पहले ही फेसबुक के जरिये हर्षिता के संपर्क में आई थी। उसे हर्षिता के परिवार के बारे में जानकारी नहीं है। गुमड़ से संदीप ने बताया कि उसकी चार दिन पहले ही फेसबुक के जरिये ही उसकी हर्षिता से बातचीत हुई थी। हर्षिता किसानों व 36 बिरादरी के बारे में बातें करती थी। हर्षिता ने उसे नहीं बताया था कि उसे जान का खतरा है।

  • 18
  • अक्टू

चंडीगढ़,18 अक्टूबर। शहर के सेक्टर-आठ स्थित प्राइवेट स्कूल की 11वीं की छात्र से शादी के झांसा देकर इसी स्कू ल का एक पूर्व छात्र शारीरिक संबंध बना रहा था। बाद में वह मुकर गया तो छात्रा ने पुलिस में मामला दर्ज करा दिया। पुलिस ने आरोपी पूर्व छात्र को गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस के अनुसार आरोपी की पहचान डड्डूमाजरा निवासी के रूप में हुई। वह अभी किसी प्राइवेट कंपनी में नौकरी कर रहा है। वहीं, पीड़िता 16 वर्षीया छात्रा पंचकूला की रहने वाली है। पुलिस को दी शिकायत में लड़की ने बताया है कि वह चंडीगढ़ के सेक्टड़र आठ स्थित एक स्कूषल में 11वीं की छात्रा है।
लड़की ने बताया‍ कि दो साल कुछ समय पहले उसी के स्कूमल से पासआउट एक छात्र से उसकी दोस्तीत हुई। बाद में दोनों एक-दूसरे के करीब आ गए। युवक ने उसे शादी करने का झांसा दिया और शारीरिक संबंध बना लिये। छात्रा ने बताया कि युवक ने उससे कई बार शारीरिक संबंध बनाया।
छात्रा ने पुलिस को बताया कि वह युवक से शादी के बारे में बात करती थी तो वह कहता था कि पहले नौकरी मिल जाए फिर शादी करेगा। छात्रा ने बताया कि युवक उसे सेक्टर-43 स्थित एक होटल में ले गया अौर वहां उससे शारीरिक संबंध बनाए। इसके बाद उसने कई बार दुष्कर्म किया।
बाद में छात्रा ने शादी के लिए दबाव बनाया और बात दोनों परिवारों तक पहुंची तो वह शादी करने से साफ मुकर गया। छात्रा और उसके परिवार ने उसे काफी समझाया, लेकिन वह शादी के लिए तैयार नहीं हुआ। इसके बाद उसने पुलिस में शिकायत दी।
पुलिस के अनुसार, पीड़िता का मेडिकल करवाया गया। मेडिकल में छात्रा से से दुष्कर्म होने की पुष्टि हुई है। इसके बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। कोर्ट में पेशी के बाद जेल भेजा गया।

  • 18
  • अक्टू

जालंधर,18 अक्टूबर। सऊदी अरब गए भारतीय लोगों विशेषकर महिलाओं के साथ बहुत बुरा सलूक किया जाता है। खाना एक समय और पीने के लिए दो बार पानी दिया जाता है। दिन भर काम करवाया जाता है व शारीरिक और मानसिक शोषण भी किया जाता है। यह कहना था कि सऊदी अरब में जुल्म सह कर आई मॉडल हाउस की महिला का। वह यहां पत्रकारों से बातचीत कर रही थी।
पूर्व चेयरपर्सन जिला योजना कमेटी और हेल्पिंग हेल्पलेस संस्था की संचालक अमनजोत कौर रामूवालिया ने हाल ही में महिला को सऊदी अरब से छुड़वाने में अहम भूमिका निभाई। रामूवालिया ने बताया कि करीब दो साल पहले महिला एक जानकार, जो सऊदी अरब में रहती थी, ने वहां पर काम दिलवाने की बात कही। अपने घर के मंदे आर्थिक हालात को देखते हुए जालंधर और दिल्ली के ट्रेवल एजेंट के जरिये महिला सऊदी अरब में चली गई।
वहां पहुंचते ही उसने महिला को एक शेख को बेच दिया। शेख पहले उसे अपने घर ले गया। वहां पर दिन रात उससे काम करवाया जाता था। किसी चीज की मांग करने पर उसका खाना बंद कर दिया जाता था और मारपीट की जाती थी। पूरी-पूरी रात काम करवाया जाता था और पीने के लिए दिन में दो बार पानी दिया जाता था। एक पल के लिए भी उसे घर से बाहर नहीं निकलने दिया जाता था।
महिला ने किसी तरह से जालंधर में रहने वाली अपनी बेटी को फोन किया। बेटी ने उनके साथ संपर्क किया तो उन्होंने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को पूरी दास्तां सुनाई और बचनो को वापस लाने के लिए कानूनी प्रक्रिया पूरी की। इसके बाद उसे वापस लाया गया। अमनजोत कौर ने लोगों से अपील की है कि सऊदी अरब में महिलाओं को बेचा जाता है। यदि कोई वहां पर ले जाने की बात कहे तो धोखे में न आएं और पुलिस को शिकायत दें।