धर्म आस्था (22)

धर्म आस्था

अजमेर (कलसी) : पवित्र रमज़ान माह की शुरुआत सोमवार सायं चांद दिखाई देने की घोषणा के साथ ही हो गई। सूफी संत वाजा साहब की दरगाह सहित जिले भर की मस्जिदों में विशेष तराबी की नमाज अदा की गई। तराबी की नमाज एक माह तक अदा की जाएगी। इसी के साथ मंगलवार को मुस्लिम परिवारों में रोजा रखा गया।
मुस्लिम कलैंडर के अनुसार वर्ष में एक माह रमजान का आता है, जिसमें अल्लाह के लिए विशेष इबादत की जाती है तथा पूरे माह में मुस्लिम धर्म के मानने वाले रोजा रखते हैं। साथ ही मस्जिदों में विशेष नमाज अदा की जाती है। सोमवार सायं शहर काजी तौसिफ अहमद सिद्दीकी ने चांद दिखाई देने की घोषणा की। इसी के साथ बड़े पीर की पहाडिय़ों से तोप के गोले दागे गए। वाजा साहब की दरगाह में शादियाने बजाये गए। इदारा दावत उल हक संस्था के प्रमुख मौलाना अयूब कासमी ने बताया कि जिले भर में रमजान माह  की शुरुआत चांद दिखाई देने की घोषणा के साथ ही हो गई। उन्होंने बताया कि पवित्र कुरान शरीफ रमजान माह में तराबी की नमाज में मुक मल किया जाता है। इस नमाज की बड़ी बरकतें रहती है। सोमवार देर रात्रि रोजा रखने के लिए सहरी का परिवारों में आयोजन किया गया। यह सिलसिला पूरे माह तक चलेगा। मंगलवार सायं 7.20 बजे रोजा इ तार किया जाएगा। मस्जिदों में रोजेदारों के लिए इफ्तार की व्यवस्था रहेगी। 

बरवा//श्रीमद् भागवत कथा सप्ताह ज्ञान यज्ञ के द्वितीय दिवस सैकड़ो भक्तगण शामिल होकर बड़ी धूमधाम से श्रीमद् भागवत कथा का सभी श्रद्धलुओ ने रस पान किया | जिसका आयोजन दिनांक 04/05/2019 से 11/ 05 /2019 तक किया जायेगा और 11/05/2019 को हवन वा विशाल भंडार का आयोजन किया जाएगा |

जबलपुर मध्य प्रदेश से आए विद्वान कथा व्यास ब्रज मोहन महाराज जी के द्वारा रसपान किया गया जिसके मुख्य आयोजक श्री रमेश चंद्र तिवारी ग्राम पुरवा पोस्ट बरवा जिला हरदोई के सानिध्य मैं श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन किया गया. श्रीमद् भागवत कथा सुनने लिए दिन रविवार दिनांक 05/05/2019को भारी संख्या में पुरुष महिला भक्तगण शामिल हुये| कथा व्यास ब्रज मोहन महाराज जी ने बताया की श्री राधा रानी का स्मरण करने से सभी कष्ट काटते है और जो इस और जो भवसागर से पार होना चाहता है उसे सी राधा रानी अपने चरण में ले आती हैं कार्यक्रम का समय दोपहर 6:00 बजे रात्रि 10:00 बजे तक श्रद्धालुओं ने मंत्रमुग्ध होकर रसपान किया जिसमें ग्राम पुरवा पोस्ट बरवा के भक्तगण बहुत ही उदार भाव के साथ कथा का रसपान किया और संगीत में श्री वृंदावन धाम से पधारे कलाकारों ने सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया |

आदर्श कुमार ब्यूरो चीफ सत्य प्रश्न न्यूज़ उन्नाव

अजमेर। (कलसी) श्री राधा कृष्ण सखा परिवार द्वारा निम्बार्क तीर्थ सलेमाबाद में परम श्रद्धेय श्री श्रीजी महाराज के पावन सान्निध्य में एवं श्री पुष्पेन्द्रजी गुप्ता के आतिथ्य में भव्य रस महोत्सव का आयोजन किया गया। सखा परिवार के उमेश गर्ग ने बताया कि रस महोत्सव में श्री श्रीजी महाराज के कृपापात्र शिष्य अशोक तोषनीवाल ने भावपूर्ण भजनों की प्रस्तुति दी एवं बांसुरी वादन से भाव विभोर कर दिया। इस अवसर अशोक तोषनीवाल ने निम्न भजनों की प्रस्तुति दी कन्हैया तुम्हारी एक झलक चाहते है ...... मेरे सतगुरू तेरी नौकरी ...... राधा राधा रसिकनि राधा ...... लाडली मैं तो दासी बनूं तिहारी.....। अंतराष्ट्रीय नगाड़ा वादक नाथूलाल सोलंकी ने अपनी पूरी टीम के साथ शंख, नगाड़ा, झांझ व शहनाई की मनमोहक प्रस्तुति दी। आज उत्सव के संयोजक पुष्पेन्द्र गुप्ता एवं अंकुर गुप्ता, सत्यनारायण पालड़ीवाल, बेणीगोपाल गनेड़ीवाल, किशनचंद बंसल, रमेशचंद अग्रवाल, शंकरलाल बंसल, रामरतन छापरवाल, ओमप्रकाश मंगल, रमेश तापडिय़ा, उमेश गर्ग, हरीश गर्ग, गोकुल अग्रवाल, आलोक माहेश्वरी, लक्ष्मीनारायण अग्रवाल, विष्णु तापडिय़ा सहित भारी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे।

 

जयपुर। जैन अतिशय क्षेत्र बाड़ा पदमपुरा में विराजमान गणिनी आर्यिका गौरवमती माताजी ने शुक्रवार को प्रातः 8.30 बजे आयोजित स्वाध्याय सभा के दौरान अपने आशीर्वचन में कहा कि ” सांसारिक जीवन को अगर सार्थक करना है तो धर्म और कर्म के साथी अवश्य बनें, ये वो मार्ग है जो प्रत्येक प्राणी के जन्म को सार्थक कर सकते है। जिस प्रकार प्राणी के जीवन मे अन्न और जल की महत्ता है ठीक उसी प्रकार प्राणी के जीवन मे धर्म और कर्म की महत्ता है धर्म इंसान के जीवन को सरल बनाते है और कर्म जीवन को सफल बनाते है। धर्म संस्कारों का प्रतीक है तो कर्म सार्थक करने का प्रतीक है। वह प्राणी अवश्य सफल होता है जिसके जीवन मे धर्म और कर्म की महत्ता है। जैसे अन्न भूख को शांत करता और जल प्यास को बुझाता है। उसी तरह धर्म मार्ग बताता है और कर्म मार्ग पर चलना सिखाता है।

आर्यिका गौरवमती माताजी ने कहा कि प्रत्येक प्राणी के अपने जन्म के महत्व को सार्थक करने का प्रयास करना चाहिए, कोई भी इंसान धर्म से गरीब, अमीर नही होता, वह केवल अपने कर्म से गरीब, अमीर होता है। अध्यक्ष सुधीर जैन ने बताया कि बुधवार 17 अप्रैल को चौबीसवें तीर्थंकर भगवान महावीर स्वामी का जन्मकल्याणक पर्व अतिशय क्षेत्र बाड़ा पदमपुरा की धरा पर भी मनाया जाएगा, इस शुभवासर पर भगवान महावीर स्वामी की अष्ट धातु की विशाल प्रतिमा पर स्वर्ण एवं रजत कलशों से कलशाभिषेक एवं शांतिधारा का आयोजन आचार्य शशांक सागर महाराज एवं गणिनी आर्यिका गौरवमती माताजी ससंघ सानिध्य में आयोजित होगा

इस अवसर भगवान महावीर स्वामी का जन्मकल्याणक अर्घ सहित अष्ट द्रव्यों से पूजन होगा। साथ ही जयपुर के रामलीला मैदान पर आयोजित विशाल धर्मसभा एवं शोभायात्रा में 8 से 12 मई तक आयोजित होने वाले ” हीरक जयंती महामहोत्सव ” को लेकर गणिनी आर्यिका गौरवमती माताजी की मंगल प्रेरणा से एक भी एक झांकी का भी आयोजन करने का प्रयास किया जा रहा है। जिसके माध्यम से क्षेत्र के 75 वर्षो के इतिहास का मंचन किया जाएगा और समाज बन्धुओ को झांकी के माध्यम से आमंत्रित किया जाएगा।

 

पांच साल बाद एक बार फिर भोपाल से फ्लाइट आपरेशन शुरू करने की तैयारी कर रहा है स्पाइस जेट। इंडिगो और विस्तारा की उड़ानें भी शुरू होने की उम्मीद

भोपाल। भोपालवासियों के लिए शिर्डी वाले साईं बाबा के दर्शन अब और भी आसान हो जाएंगे। नए साल पर स्पाइस जेट तोहफे के रूप में लोगों को नई उड़ान की सौगात देने की तैयारी कर रहा है।

कम किराए वाली एयरलाइंस के रूप में प्रसिद्ध स्पाइस जेट ने पांच साल बाद एक बार फिर भोपाल से फ्लाइट आपरेशन शुरू करने का फैसला किया है। कंपनी भोपाल से टूट चुका साउथ कनेक्शन जोड़ने के साथ ही शिर्डी तक भी डायरेक्ट उड़ान शुरू करेगी। कंपनी ने जनवरी 2019 से एक साथ चार उड़ानें शुरू करने का प्रस्ताव दिया है।

एयरपोर्ट अथारिटी काफी समय से भोपाल से हवाई यातायात बढ़ाने का प्रयास कर रही थी। हाल ही में शुरू हुए सपोर्ट भोपाल फॉर एयर कनेक्टिविटी अभियान टीम ने भी इसके लिए सोशल प्लेटफार्म मुहिम शुरू की थी। इसका असर दिखाई देने लगा है। बुधवार को स्पाइस जेट के रीजनल मैनेजर (एयरपोर्ट सर्विस) बिजेंद्रसिंह एवं मैनेजर इंजीनियरिंग अमित कुमार ने एयरपोर्ट पर उपलब्ध सुविधाओं का अवलोकन किया। एयरपोर्ट अथारिटी ने बैठक में कंपनी को यहां मौजूद सेवाओं एवं सुविधाओं का प्रेजेंटेशन दिया। बैठक में एयरपोर्ट डायरेक्टर अनिल विक्रम एवं उपमहाप्रबंधक राकेश बाहेरी सहित अनेक अधिकारी मौजूद थे। निरीक्षण के साथ ही कंपनी ने अपना बुकिंग कार्यालय खोलने की सहमति भी दे दी।
*चार उड़ानों के साथ होगी शुरूआत*
कंपनी ने पहले चरण में भोपाल से हैदराबाद, जयपुर, अहमदाबाद एवं शिर्डी के लिए उड़ान शुरू करने का फैसला किया है। श्री विक्रम के अनुसार कंपनी जनवरी 2019 से अपनी उड़ानें शुरू कर देगी। कंपनी ने बुकिंग कार्यालय के साथ ही इंजीनियरिंग मेंटेनेंस कार्यालय के लिए भी जगह दे दी है। दूसरे चरण में कंपनी यहां मेंटेनेंस सेंटर खोलेगी। यह खुलते ही कंपनी के विमान भोपाल में नाइट हाल्ट कर सकेंगे। इससे यात्रियों को सुबह के वक्त बिना विलंब के उड़ानें मिल सकेंगी। कंपनी ने भविष्य में चेन्नई एवं बंगलुरू के लिए उड़ान शुरू करने का भी भरोसा दिलाया है। स्पाइस जेट ने सन 2009 में भोपाल में उड़ानें शुरू की थीं, लेकिन 2013 में कंपनी ने सभी उड़ानें बंद कर दी थीं।
*इंडिगो ने सुरक्षा राशि जमा कराई*
हाल ही में बजट एयरलाइंस इंडिगो ने भी भोपाल से प्रमुख शहरों के लिए उड़ानें शुरू करने की सहमति दी थी। कंपनी ने एयरपोर्ट पर बुकिंग कार्यालय खोलने की तैयारी की है। बुधवार को कंपनी ने इसके लिए जरूरी औपचारिकताएं पूरी की। सुरक्षा राशि भी जमा हो गई। इससे यह साफ हो गया है कि कंपनी जल्द ही उड़ानें शुरू करेगी। टाटा समूह की विस्तारा एयरलाइंस की उड़ानें भी अगले साल शुरू हो सकती हैं।

हमने लगभग सभी एयरलाइंस को भोपाल से उड़ानें शुरू करने का आग्रह किया था। इंडिगो के बाद स्पाइस जेट ने भी हमारा आग्रह स्वीकार कर लिया है। वर्ष 2019 हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण होगा। देश के हवाई मानचित्र पर भोपाल भी प्रमुखता से नजर आने लगेगा।

अनिल विक्रम, एयरपोर्ट डायरेक्टर

लुनिया का बड़ा ऐलान - जैन प्रेस क्लब के माध्यम से समाज की सभी खबरों का होगा निशुल्क प्रकाशन, पदाधिकारी भेज सकेंगे सत्यापित खबरे, व्हाट्स एप नंबर हुआ जारी
 
इंदौर : जैन मीडिया सोशल वेलफेयर सोसाइटी के राष्ट्रीय अध्यक्ष वरिष्ठ पत्रकार एवं समाज सेवी विनायक अशोक लुनिया ने समाज की खबरों को मजबूती देने के उपदेश्य से गठित जैन प्रेस क्लब द्वारा समाज की खबरों का राष्ट्रीय स्तर पर प्रकाशन पूर्णतः निशुल्क रूप से किया जाने की बात कही है। श्री लुनिया ने बताया इस श्रेणी में समाज की समस्याएं व आयोजनों आदि शामिल होंगे अगर समाज का कोई वर्ग विशेष रूप से कवरेज करवाना चाहेगा तो वो सशुल्क कवर किया जाएगा। श्री लुनिया ने साथ इस पर विशेष बात कही है की खबरों के प्रकाशन के साथ ही समाजजनों के व्यक्तिगत रूप से परेशानी पर भी कार्य किया जायेगा। वहीँ समाजजनों के विचारों पर संवाद भी विचार कर संपादक मंडल द्वारा समझ कर मीडिया में प्रेषित किया जायेगा। श्री लुनिया ने बताया कि आज जैन प्रेस क्लब के भारत वर्ष में 50 से अधिक जिलों में पदाधिकारियों की नियुक्ति हो चुकी है वहीं निरंतर नियुक्तियां जारी है। श्री लुनिया के अनुसार समाज के हर क्षेत्र में पदाधिकारियों द्वारा भेजी गई समाचार को समसोधित कर के आगे प्रकाशित किया जाएगा जिसके लिए संगठन द्वारा समय समय पर समाज के लिए पत्रकारिता के क्षेत्र में विभिन्न वर्कशॉप आदि का आयोजन भी किया जाएगा । संगठन के राष्ट्रीय महासचिव व जैन प्रेस क्लब के राष्ट्रीय प्रभारी राष्ट्रीय अध्यक्ष अतुल जैन ने नंबर जारी किया 8319031105 श्री जैन ने नंबर जारी करते हुए बताये की इस नंबर पर सिर्फ सत्यापित खबर कोई भी संगठन के पदाधिकारी द्वारा अपने नाम एवं पदनाम के साथ भेजा जाना अनिवार्य होगा कोई समाजजन अगर खबर भेजना चाहते है तो उनको अपने क्षेत्र के जैन प्रेस क्लब पदाधिकारी से संपर्क करना होगा। श्री जैन ने समाचार भेजने के सम्बन्ध भी प्रकाश डालते हुए कहा की जैन समाज से जुड़े समाचार भी प्रकाशन हेतु आगे भेजा जायेगा अन्य खबर प्रेषित करने पर पदाधिकारी को उच्च पदाधिकारी या सम्बंधित पदाधिकारी को जवाब देना होगा।
फेसबुक का जैन धर्म पर बड़ा आघात, दिगंबर जैन संतो को बताया अश्लील, फोटो डालने पर अकाउंट ससपेंड
जैन मीडिया ने किया फेसबुक के इस फैसले का विरोध, कहा जैन समाज फिर एक बार २४ अगस्त २०१६ को दौरहेगा, जैन धर्म गुरु के चित्र को अश्लील बताने पर फेसबुक को मांगना होगा माफ़ी
 
इंदौर : जैन समाज के एक संप्रदाय दिगंबर समाज में संतों का नग्न अवस्था में रहना सदियों पुराणी प्रथा है और यह प्रथा सिर्फ जैन धर्म में ही नहीं वरन सनातन धर्म में भी नागा साधु के रूप में तपस्वी प्रसिद्ध है ऐसे में फेसबुक गत २ - ३ माह पूर्व से जैन संतों के तस्वीर डालने पर फेसबुक अकाउंट को ३ दिन से लगा कर ३० दिन (एक माह) के लिए ब्लॉक (ससपेंड) कर दे रहा है. यह मामला प्रकाश में तब आया जब २१ नवम्बर २०१८ को उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिला में दिगंबर संत श्री आचार्य विधायसागर जी महाराज जिनको जैन समाज धरती के भगवान मानता है तो वहीँ अन्य धर्म के लोग भी आचार्य श्री के दर्शन कर खुद को धन्य मानते है. ऐसे में जब ललितपुर नगर प्रवेश के चित्र जिसपर मनुष्य शरीर में मौजूद (प्रायवेट पार्ट) की जगहों पर समाज जन द्वारा किसी धर्म या मनुष्य को आघात न हो इस लिए एडिटिंग कर के पोस्ट किया गया जिसके बाद भी फेसबुक ने एक सन्देश देते हुए कहता है की आपके द्वारा पोस्ट किया गया फोटो सामग्री नग्नता या यौन सामग्री में यह शामिल होता है. जिस सन्दर्भ में 4 कारणों का हवाला देते हुए फेसबुक अकाउंट को बंद कर दिया जो की निम्न प्रकार है १- यौनांग दिखने वाली नग्नता, २- योन गतिविधि, महिला के स्तन, कामुक भाषा. जिस से यह जैन समाज में आघात हुआ है की फेसबुक जैन धर्म के धर्म गुरु को अश्लीलता के साथ तौल रहे है.
 
जैन मीडिया ने किया विरोध कहा हम करेंगे फेसबुक के खिलाफ आंदोलन
 
जैन मीडिया सोशल वेलफेयर सोसाइटी के राष्ट्रिय अध्यक्ष वरिष्ठ पत्रकार विनायक अशोक लुनिया एवं राष्ट्रिय महासचिव अतुल जैन ने बताया की इस घटना के बाद से जैन समाज में भारी मात्रा में फेसबुक के खिलाफ रोष है एवं यह हमारे धर्म व् धर्मगुरु का अपमान है, जिसको जैन समाज किसी कीमत पर बर्दास्त नहीं करेगा और जल्द ही देश भर में फेसबुक के खिलाफ रैली एवं अन्य माध्यम से अपना विरोध दर्ज करवा कर फेसबुक को जैन धर्म गुरु के लिए उपयोग किया गया शब्दों को वापस लेते हुए जैन समाज से माफ़ी मांगने के लिए मजबूर करेगा.
 
फेसबुक पर होता है खुले आम पोर्न प्रदर्शन 
 
श्री लुनिया ने आगे बताते हुए कहा की एक तरफ फेसबुक नग्नता का हवाला दे रहा है वहीँ फेसबुक के द्वारा निर्धारित मानकों के दायरे में आने वाले पोर्न पोस्ट धडले से फेसबुक पर पोस्ट शेयर हो रहे है यहाँ तक पोर्न वाली प्रोफाइल पिक्चर एवं पिक्चर व् वीडियो ऑटो टैग हो जाते है वहीँ हजारो की तादात में फेसबुक पर अश्लील पेज व् ग्रुप बना रखा गया है उनको फेसबुक ब्लॉक नहीं कर रहा है जबकि जैन  धर्म शांति का प्रतिक होने के साथ ही धर्म अहिंसा परमोधर्म को मानता है उनके धर्म गुरु पर इस तरह का आघात समाज बिलकुल सहेगा. 
 

 

केशो राय पाटन। केशो राय पाटन धार्मिक नगरी मे कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर प्रदेश के कोने कोने से आये एक लाख लोगों ने चंबल मे पवित्र स्नान किए। शुक्रवार को सुबह तीन बजे तक ही चंबल मे सन्नान करने के लिए लोगो की भीड़ उमड़ पड़ी सुबह चार बजे मगला आरती के बाद से मंदिर में दर्शन ओर अभिषेक के भीड़ लगी रही चंबल के मार्ग से मंदिर की परिक्मा मे लोगो का हुजूम उमड़ पड़ा।

कार्तिक पूर्णिमा के अवसर धार्मिक संगठन की ओर से केशो राय जी का भंडार रा लगाया गया जिसमे हजारो लोगो ने पूड़ी सब्जी खीर हुलूवा सहित अन्य प्रसाद ग्रहण किया। वही चंबल तट पर पंद्रह दिन का कार्तिक मेला प्रारंभ हुआ। मेले में केशव रँग मंच पर रामलीला का आयोजन किया गया।

 

नीमच। साध्वी बनने के लिए मध्य प्रदेश में एक महिला ने 100 करोड़ की संपत्ति को ठुकरा दिया। इतना ही नहीं अपनी तीन साल की बच्ची का भी मोह त्याग दिया। महिला के पति ने पहले ही दीक्षा ले ली थी। दीक्षा लेने के लिए इस जोड़े को कई कानूनी अड़चनों का भी सामना करना पड़ा। 
मध्य प्रदेश के नीमच में यह घटना काफी चर्चा में है। अनामिका के पति सुमित ने पहले दीक्षा ले ली थी। उसके बाद उसने भी करीब चार हजार से अधिक लोगों को साक्षी रखते हुए साध्वी की शपथ ली। अब वह साध्वी श्रीजी के नाम से जानी जाएंगी। अनामिका की दीक्षा के दौरान 2 साल 10 माह की इभ्या को परिजनों की देखभाल में राजस्थान के कपासन में ही रखा गया। 
अनामिका के पति सुमित जो अब सुमित मुनि बच चुके हैं दीक्षा समारोह में शामिल हुए। पति पत्नी द्वारा दीक्षा लेने के लिए बेटी का परित्याग करने की बात पर दोनों का विरोध हुआ। सुमित ने 23 सितम्बर को श्री साधुमार्गी जैन आचार्य रामलाल से दीक्षा ली। उन्हें सुमित मुनि नाम दिया था, लेकिन अनामिका को महज आज्ञा पत्र मिल सका था।
कानूनी अड़चन दूर कर सोमवार सुबह सूरत में ही आचार्यश्री ने हजारों लोगों की मौजूदगी में अनामिका को दीक्षित किया। सुबह करीब 8.15 बजे केश मुंडन और सफेद वस्त्र धारण का सामयिक वाचन के साथ दीक्षा की प्रक्रिया पूर्ण हुई। अब उन्हें समाज में साध्वी अनाकार श्रीजी नाम से जाना जाएगा। अनामिका के साथ सोमवार को रायपुर के आदर्श धारीवाल ने भी दीक्षा ली। आदर्श रायपुर के एक बड़े बिल्डर के पुत्र हैं। उन्होंने महज 18 वर्ष की आयु में वैराग्य के पथ को चुना है। इस मामले में सुभाष पगारिया, महामंत्री, श्री साधुमार्गी जैन श्रीसंघ, सूरत ने कहा ''संघ ने कानूनी अड़चन को दूर किया। शिकायतकर्ता रिश्तेदार ने भी शिकायत वापस लेने के साथ समाज के समक्ष क्षमा-याचना की है। इसके बाद आचार्यश्री ने अनामिका जी को दीक्षित किया। यदि इसके बाद भी कोई कानूनी अड़चन या परेशानी आएगी तो श्री संघ विधिक माध्यम से पक्ष रखेगा।''

इन तीन आधार पर दूर हुई कानूनी अड़चन 
- संविधान में धर्म का पालन और धर्म संगत आचरण करने का प्रत्येक नागरिक को मौलिक अधिकार है। कोई भी राज्य सत्ता या शासन नागरिकों के इस मौलिक अधिकारों में दखल नहीं दे सकता। 
- अनामिका के पिता अशोक चंडालिया के परिवार के एक सदस्य (जिन्होंने शिकायत की, नाम का खुलासा नहीं) ने सूरत पहुंच शिकायत वापस लेने की जानकारी दी। लिखित में पत्र सौंप समाजजनों के समक्ष क्षमा-याचना की। कार्रवाई नहीं चाहने के संबंध में स्वीकृति प्रदान की। 
- सूरत श्रीसंघ व समाज के कोलकाता निवासी उच्चतम न्यायालय के अभिभाषक नीलेश बांठिया ने कमिश्नर व अन्य अधिकारियों के समक्ष विधिक पक्ष रखा। उल्लघंन की दशा में न्यायालयीन कार्रवाई में जवाब देने की स्वीकारोक्ति दी।

पृष्ठ 1 का 2