-->

जैन समाज की साध्वियों के 8 सदस्य दल ने ख्वाजा गरीब नवाज की चौखट चूमी

अजमेर 27 अप्रेल। हज़रत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह में दुनिया भर से हर धर्म और प्रांत के लोग हाज़री देते है। दरबारे ख्वाजा में हाज़िर होने वाले जात-पात ओर भेद भाव को बाहर ही छोड़कर आते है। आज देश के विभिन्न स्थानों में पैदल यात्रा करने वाली जैन समाज की साध्वियां भी अजमेर दरगाह पहुंचीं,यहां पहुंचकर साध्वियों के 8 सदस्य दल ने ख्वाजा गरीब नवाज की चौखट चूमी। साध्वियों के 8 सदस्य दल ने मज़ारे ख्वाजा की ज़ियारत की। दरगाह के ख़ादिम सैय्यद यामीन हाशमी ने इन साध्वियों को हाज़िरी दिलवाई। हाज़री के बाद ख़ादिम यामीन हाशमी ने साध्वियों को दरगाह के मुवमेटों दिए। हाज़री के बाद जैन साध्वी ने पत्रकारों से बात चीत करते हुए दरगाह आने पर खुशी जाहिर की। ओर कहा कि इस दरबार के बारे में बहुत लोगो से सुना था बरसों से तमन्ना थी कि ख्वाजा साहब की दरगाह देखे आज यहां आकर देखा कि यहां किसी भी धर्म मे कोई भेद भाव नही रखा जाता है। जिस तरह जैन धर्म अहिंसा पर चलने वाला धर्म है इस्लाम भी अहिंसा पसंद धर्म है। यहां के लोग दरगाह आने वालों का सम्मान करते है।