-->

लचीलापन

27 मार्च 2017
Author :  

लचीलापन
तूफ़ान से लडती
तेज़ी से हिलती
नीम की पतली सी
टहनी पर दृष्टि पडी
बची रहेगी या टूट कर
धरती पर गिर जायेगी
मन की जिज्ञासा बढ़ी
मोटी डालियाँ
तूफ़ान की मार सह न सकी
नन्ही टहनी
नीम पर झूमती रही
बात समझ में आ गयी
जीवन में ताकत ही
आवश्यक नहीं होती
लचीलापन भी मनुष्य की
ताकत बन सकती है

डा.राजेंद्र तेला,निरंतर
वरिष्ठ चिकित्सक,अजमेर

162 Views
palpal