-->

शिवसेना ने की भारत में भी 'बुर्का पर बैन' लगाने की मांग

01 मई 2019
Author :  

नई दिल्‍ली : श्रीलंका में बीते सप्‍ताह हुए बम विस्‍फोटों के बाद सरकार ने वहां फौरी तौर पर किसी भी तरह से चेहरा ढकने पर रोक लगा दी है, जिसका हवाला देते हुए शिवसेना ने अब भारत में भी 'बुर्का पर बैन' लगाने की मांग की है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र 'सामना' के संपादकीय में इस तरह की मांग रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से देश में बुर्का या नकाम को प्रतिबंध‍ित करने की मांग की है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बुधवार के अयोध्‍या जिले के दौरे का हवाला देते हुए इसमें लिखा गया है, 'रावण की लंका में जो हुआ वो राम की अयोध्या में कब होगा?' शिवसेना ने अपनी इस मांग को 'राष्‍ट्रहित में' करार देते हुए इस संबंध में फ्रांस, न्‍यूजीलैंड, ब्रिटेन, ऑस्‍ट्रेलिया का भी जिक्र किया और कहा कि दुनिया के ये देश अगर अपने यहां आतंकी हमले होने पर बुर्का को प्रतिबंधित करने का फैसला ले सकते हैं तो भारत क्‍यों नहीं?  

शिवसेना ने इस क्रम में जम्‍मू एवं कश्‍मीर में आतंकवाद की स्थिति का भी जिक्र किया। 'बुर्का बैन' को 'सर्जिकल स्‍ट्राइक जितना हिम्‍मत का कार्य' बताते हुए पार्टी ने यह भी कहा कि अगर किसी तरह की धर्मांधता, रूढ़‍ि या परंपरा राष्‍ट्रीय सुरक्षा के आड़े आती है तो उसे जरूर खत्‍म कर दिया जाना चाहिए। पार्टी ने इस क्रम में श्रीलंका के राष्‍ट्रपति मैत्रिपाल सिरिसेना की तारीफ करते हुए भारत सरकार से भी ऐसा फैसला लेने की अपील की।

यहां उल्‍लेखनीय है कि श्रीलंका में चेहरा ढकने पर प्रतिबंध ईस्टर (21 अप्रैल) के मौके पर हुए सिलसिलेवार बम विस्फोटों के बाद लगाया गया। इसमें किसी भी तरह से चेहरा ढकने पर रोक लगा दी गई है। यह फैसला 'आपातकालीन कानून' के तहत लिया गया है, जो स्थायी नहीं है। श्रीलंका में हुए विस्‍फोटों में मरने वालों की संख्‍या आधिकारिक तौर पर 253 बताई गई है। हालांकि शिवसेना ने अपने संपादकीय में अनाधिकारिक तौर पर 500 से अधिक लोगों के इन विस्‍फोटों में जान गंवाने की बात कही है। इन हमलों की जिम्‍मेदारी इस्‍लामिक स्‍टेट (आईएस) ने ली है।

30 Views
palpal