राजनीति

  • 09
  • मई

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा पूर्व पीएम राजीव गांधी पर INS विराट के पर्सनल इस्तेमाल करने का आरोप लगाने के बाद से यह मसाला खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है। इस मसले पर अब पूर्व नौसेना प्रमुख एल रामदास ने पीएम मोदी के इस बयान को जुमला बताते हुए बड़ा बयान दिया है। वहीं आईएनएस विराट के तत्कालीन कमांडिग अफसर विनोद पसरीचा ने भी इस दावे को झूठा बताया है। एडमिरल रामदास ने पीएम मोदी के दावे के बाद गुरुवार को एक प्रेस रिलीज जारी की, जिसमें उन्होंने कहा कि राजीव गांधी की लक्षद्वीप यात्रा आधिकारिक थी, वह पिकनिक पर नहीं थे।

उन्होंने कहा कि राजीव गांधी INS विराट पर राष्ट्रीय खेल पुरस्कार वितरण में गए थे। उन्होंने कहा कि आरोप एकदम झूठा है। प्रधनमंत्री का वह सरकारी दौरा था। हम इस तरह के आरोप से व्यथित हैं। सेना किसी के निजी इस्तेमाल के लिए नहीं है। बता दें कि पीएम मोदी ने कहा था, ‘आईएनएस विराट का इस्तेमाल एक निजी टैक्सी की तरह करके राजीव गांधी ने इसका अपमान किया गया। यह तब हुआ जब राजीव गांधी एवं उनका परिवार 10 दिनों की छुट्टी पर गए हुए थे। आईएनएस विराट को हमारी समुद्री सीमा की रक्षा के लिए तैनात किया गया था, किन्तु इसका मार्ग बदल कर गांधी परिवार को लेने के लिए भेजा गया जो अवकाश मना रहा था।’

  • 09
  • मई

चुनाव आयोग ने इस चुनाव में यह तय किया है कि वोट डालने के लिए आधार कार्ड, मतदाता कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस समेत 12 दस्तावेजों में से कोई भी एक दस्तावेज मतदान केंद्र पर दिखाना होगा. तभी मतदाता वोट डाल सकेंगे. केवल बूथ लेवल ऑफिसर (बीएलओ) की पर्ची से काम नहीं चलेगा. प्रशासन ने आयोग के नए नियम का सही तरीके से प्रचार नहीं किया है, जिससे लोगों को इस बात की जानकारी ही नहीं है.

वहीं निर्वाचन अधिकारियों का कहना है कि उन्होंने प्रचार किया है. अगर लोगों को इस बात की जानकारी नहीं है तो वे बीएलओ पर्ची के साथ मतदाताओं को यह जानकारी देंगे. बहरहाल, अब मतदान में सिर्फ दो दिन और बचे हैं. अगर निर्वाचन अधिकारियों ने आयोग के नए नियम का ठीक से प्रचार नहीं किया, तो बहुत से मतदाता लोकतंत्र के हवन में आहुति डालने से वंचित रह जाएंगे.

  • 09
  • मई

इन्दौरः09 मई (रजनी खेतान)  मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग की अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा ने बताया कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने आज गुना लोकसभा के अशोक नगर में जो भाषण दिया, उसमें जनता ने उन्हें आईना दिखाते हुए पूरी तरह से झुठला दिया। स्मृति ईरानी ने जब कहा कि "क्या आप का कर्जा माफ हुआ है?" तो जनता बोली कि "हां हुआ है।" भाजपा के सभी नेताओं ने चाहे वह नरेंद्र मोदी हों, शिवराज सिंह हों या स्मृति ईरानी हों, सभी ने कर्ज माफी के मुद्दे पर प्रदेश की जनता के सामने गलतबयानी करते हुए, उन्हें बरगलाने की कोशिश की है, इन झूठे नेताओं ने प्रदेश सरकार द्वारा की गई 21 लाख किसानों की कर्जमाफी को झुठलाने का नाकाम प्रयास किया है, जिसका जवाब अब प्रदेश की जनता दे रही है, अगले दो चरणों के मतदान में भी वह भाजपा को करारा सबक सिखाएगी। श्रीमती शोभा ओझा ने आगे कहा कि प्रदेश की जनता जानती है कि पिछले 15 वर्षों की भाजपा सरकार के पूरे कार्यकाल में, 21000 किसानों की आत्महत्या, मध्यप्रदेश के गौरवशाली इतिहास का काला अध्याय थी। हम आहत थे और इस बात के लिए प्रतिबद्ध भी, कि यदि प्रदेश में हमारी सरकार बनी तो हम अपने अन्नदाताओं को कर्ज के भीषण बोझ से मुक्ति प्रदान करेंगे। प्रदेश की जनता ने हम पर विश्वास जताया, हमारी सरकार बनी और हमने अविलंब "जय किसान फसल ऋण मुक्ति योजना" पर कार्य प्रारंभ कर दिया। श्रीमती ओझा ने आगे कहा कि इस योजना के संबंध में एक ओर जहां भारतीय जनता पार्टी लगातार भ्रम फैला रही थी, वहीं दूसरी ओर, कांग्रेस पार्टी की जनहितैषी सरकार, पूरी तन्मयता से किसानों की कर्जमाफी की प्रक्रिया को संपन्न करने में जी-जान से जुटी थी। परिणाम यह हुआ कि प्रदेश में अब तक कुल 21 लाख किसानों की कर्ज माफी की प्रक्रिया संपन्न हो चुकी है और इसकी सूची को हमने सार्वजनिक करने के साथ ही, प्रदेश के पूर्व भाजपाई मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी सौंप दी है, जो लगातार इस मुद्दे पर किसानों और प्रदेश की जनता के बीच भ्रम फैलाने की कोशिश कर रहे थे। श्रीमती ओझा ने कहा कि आज केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी उसी झूठ को आगे फैलाने की कोशिश की लेकिन प्रदेश की जनता अब ऐसे नेताओं को सीधे ही मुंहतोड़ जवाब देने लगी है । हम साफ कर देना चाहते हैं कि कर्जमाफी की इस पारदर्शी प्रक्रिया में, हमने किसी प्रकार का, कोई भेदभाव नहीं किया, हमने किसान को केवल किसान समझा और बिना किसी राजनीतिक चश्मे के, अपनी निष्पक्षता को कायम रखा। इसके कुछ उदाहरण यहां आपकी जानकारी के लिए प्रस्तुत हैं। कर्जमाफी के मुद्दे पर सबसे ज्यादा भ्रम फैलाने वाले प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गांव में ही, उनके कई परिवारजनों व सगे संबंधियों की कर्जमाफी हुई है, उदाहरण के लिए गोपाल सिंह यशवंत सिंह चौहान की 41820 रुपये की कर्ज माफी दिनांक 21 फरवरी 2019 को हुई, विमलेश महेंद्र सिंह चौहान कि 29517 रुपए की कर्जमाफी दिनांक 21 फरवरी 2019 को हुई, मुन्नीबाई कल्याण सिंह की 74555 रुपये की कर्ज माफी दिनांक 23 फरवरी 2019 को हुई, राजेंद्र सिंह पिता शिवपाल सिंह चौहान की 25678 की कर्जमाफी दिनांक 23 फरवरी 2019 को हुई, ये सभी नाम ग्राम- जैत बुधनी जिला सीहोर में कर्ज माफी की सूची के कुछ उदाहरण हैं । साफ है कि नरेन्द्र मोदी, शिवराज सिंह चौहान और स्मृति ईरानी सहित सभी भाजपा नेताओं के झूठ की पोल खुल चुकी है। श्रीमती ओझा ने कहा कि इसी प्रकार हरदा के भाजपा विधायक कमल पटेल की पत्नी रेखा कमल पटेल और उनके पुत्र सुदीप कमल पटेल के नाम भी कर्ज माफी की सूची में हैं। इन कुछ उदाहरणों से ही साफ हो जाता है कि भ्रम फैलाने वाली भाजपा के चाल-चरित्र और चेहरे के विपरीत, हमारी नीति और नीयत एकदम साफ है और हम आगे भी, प्रदेश के अन्नदाताओं और यहां की जनता के हितों को, उनके सपनों को पूरा करने के लिए न केवल तत्पर हैं, बल्कि पूरी तरह से वचनबद्ध भी हैं।

  • 09
  • मई

 इन्दौरः09 मई (रजनी खेतान) मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग की अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा ने बताया कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राहुल गांधी जी 11 मई, शनिवार को मध्यप्रदेश के दौरे पर रहेंगे। यहां वे तीन विशाल जनसभाओं को संबोधित करेंगे। इस दौरान उनके साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी भी उपस्थित रहेंगे। श्रीमती ओझा ने कहा कि 11 मई को श्री राहुल गांधी की पहली जनसभा, प्रदेश की देवास-शाजापुर लोकसभा के शुजालपुर में प्रातः 11:20 बजे होगी। उनकी दूसरी जनसभा धार लोकसभा के अमझेरा में दोपहर 1:40 बजे होगी और उसी दिन उनकी तीसरी जनसभा दोपहर 3:30 बजे खरगोन में होगी।