-->

रामगढ बांध को पुनः पेयजल के लिए तैयार किया जाना आज के समय की सबसे बड़ी मांग, जनता और पूर्व राजपरिवार पूरा सहयोग करने को तत्पर -दिया कुमारी

14 मार्च 2019
Author :  

जयपुर। नौ दशक तक जयपुर की प्यास बुझाने वाला रामगढ बांध आज अपने पुनरूद्धार के लिए तरूण पुकार करता प्रतीत होता है। पूर्व जयपुर रियासत के महाराजा सवाई माधोसिंह द्वितीय द्वारा वर्ष 1897 से 1903 के मध्य इस बांध का निर्माण जयपुर की जनता को पेयजल उपलब्ध कराने के लिए किया गया था, किन्तु आज अवैध अतिक्रमणों के कारण आज यह बांध दुर्दशा का शिकार हो गया है। पूर्व राजपरिवार जयपुर की सदस्या दिया कुमारी ने गुरूवार को इस बांध के पुनरूद्धार के लिए मौके पर जाकर मुआयना किया।

गौरतलब है कि दिया कुमारी कुछ दिन पूर्व इस संबंध में माननीय राजस्थान उच्च न्यायालय द्वारा बनाए गए नोडल अधिकारी रोहित कुमार सिंह से भी भेंट करके आई थी और उनको भी इस मामले में जनता और राजपरिवार से अपेक्षित सहयोग की बात कही थी। दिया कुमारी ने मौके पर उपस्थित लोगों को कहा कि आने वाली भीषण गर्मी और घटते भू-जल स्तर को देखते हुए पानी का महासंकट आने वाला है ऐसे में रामगढ बांध को पुनः पेयजल के लिए तैयार किया जाना आज के समय की सबसे बड़ी मांग है और इसमें जनता और पूर्व राजपरिवार पूरा सहयोग करने को तत्पर है।

चूंकि यह बांध जयपुर में एक लाइफ लाइन के रूप में देखा जाता रहा है ऐसे में इसके मध्य आने वाले अतिक्रमणों के संबंध में त्वरित कार्यवाही की जानी चाहिये। इस अवसर पर दिया कुमारी के साथ  राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष महिपाल सिंह मकराना, पदाधिकारी विवेक सिंह ख्याली, शक्तिसिंह बांदीकुई, जितेन्द्र सिंह, तालकटोरा विकास समिति के मनीष सोनी सहित बड़ी संख्या में नागरिक व समिति व सेना के पदाधिकारी मौजूद थे।

दिया कुमारी ने रामगढ मुआयने के पहले जमुवाय माता मंदिर में  राजपूत करणी सेना द्वारा आयोजित फाग उत्सव कार्यक्रम में भी भाग लिया और माता के दर्शन कर सर्व समुदाय के उज्जवल भविष्य व स्वस्थ रहने की कामना की। इस अवसर पर दिया कुमारी के साथ  राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष महिपाल सिंह मकराना सहित तालकटोरा विकास समिति के मनीष सोनी बड़ी संख्या में स्थानीय नागरिक , राजपूत समाज के पदाधिकारी कार्यकर्ता मौजूद रहे।

 

41 Views
palpal