palpal

palpal

Email: यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए.

अमेरिका और चीन के बीच जारी 'ट्रेड वॉर' से दुनियाभर के निवेशकों में घबराहट है. इसीलिए वो अब पैसा निकालकर सोने में लगा रहे है.

आपको बता दें कि बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 487अंक की कमजोरी के साथ 37789 पर बंद हुआ है. वहीं एनएसई का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी करीब 138 अंक लुढ़ककर 11359 पर बंद हुआ है.

एक्सपर्ट्स बतातें है कि मई महीने की शुरुआत बेहद निराशाजनक रही है. इस दौरान बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों के शेयरों की वैल्यूएशन 1,52,09,721.43 करोड़ रुपये से गिरकर 1,47,43,074.21 करोड़ रुपये पर आ गई है. ऐसे में निवेशकों को कुल 4.66 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है.

दुनिया के बड़े निवेशक वॉरेन बफे का कहना है कि अगर अमेरिका की चीन पर 25 फीसदी टैरिफ लगाने की धमकी सच साबित हुई तो ये पूरी दुनिया के लिए खराब होगा. सीएनबीसी के साथ एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में वॉरेन बफेट ने कहा है कि ट्रेड वॉर का मसला सुलझने में ही सबकी भलाई है. ट्रेड वॉर पूरी दुनिया के लिए बुरा होगा. टैरिफ पर तोल-मोल खतरनाक है. चीन की तरक्की पूरी दुनिया के लिए अच्छी है. दोनों देशों की फिक्र जायज है. उम्मीद है कि अमेरिका चीन ट्रेड का मुद्दा सुलझा लेंगे.

इन्दौरः09 मई (रजनी खेतान)  मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग की अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा ने बताया कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने आज गुना लोकसभा के अशोक नगर में जो भाषण दिया, उसमें जनता ने उन्हें आईना दिखाते हुए पूरी तरह से झुठला दिया। स्मृति ईरानी ने जब कहा कि "क्या आप का कर्जा माफ हुआ है?" तो जनता बोली कि "हां हुआ है।" भाजपा के सभी नेताओं ने चाहे वह नरेंद्र मोदी हों, शिवराज सिंह हों या स्मृति ईरानी हों, सभी ने कर्ज माफी के मुद्दे पर प्रदेश की जनता के सामने गलतबयानी करते हुए, उन्हें बरगलाने की कोशिश की है, इन झूठे नेताओं ने प्रदेश सरकार द्वारा की गई 21 लाख किसानों की कर्जमाफी को झुठलाने का नाकाम प्रयास किया है, जिसका जवाब अब प्रदेश की जनता दे रही है, अगले दो चरणों के मतदान में भी वह भाजपा को करारा सबक सिखाएगी। श्रीमती शोभा ओझा ने आगे कहा कि प्रदेश की जनता जानती है कि पिछले 15 वर्षों की भाजपा सरकार के पूरे कार्यकाल में, 21000 किसानों की आत्महत्या, मध्यप्रदेश के गौरवशाली इतिहास का काला अध्याय थी। हम आहत थे और इस बात के लिए प्रतिबद्ध भी, कि यदि प्रदेश में हमारी सरकार बनी तो हम अपने अन्नदाताओं को कर्ज के भीषण बोझ से मुक्ति प्रदान करेंगे। प्रदेश की जनता ने हम पर विश्वास जताया, हमारी सरकार बनी और हमने अविलंब "जय किसान फसल ऋण मुक्ति योजना" पर कार्य प्रारंभ कर दिया। श्रीमती ओझा ने आगे कहा कि इस योजना के संबंध में एक ओर जहां भारतीय जनता पार्टी लगातार भ्रम फैला रही थी, वहीं दूसरी ओर, कांग्रेस पार्टी की जनहितैषी सरकार, पूरी तन्मयता से किसानों की कर्जमाफी की प्रक्रिया को संपन्न करने में जी-जान से जुटी थी। परिणाम यह हुआ कि प्रदेश में अब तक कुल 21 लाख किसानों की कर्ज माफी की प्रक्रिया संपन्न हो चुकी है और इसकी सूची को हमने सार्वजनिक करने के साथ ही, प्रदेश के पूर्व भाजपाई मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी सौंप दी है, जो लगातार इस मुद्दे पर किसानों और प्रदेश की जनता के बीच भ्रम फैलाने की कोशिश कर रहे थे। श्रीमती ओझा ने कहा कि आज केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी उसी झूठ को आगे फैलाने की कोशिश की लेकिन प्रदेश की जनता अब ऐसे नेताओं को सीधे ही मुंहतोड़ जवाब देने लगी है । हम साफ कर देना चाहते हैं कि कर्जमाफी की इस पारदर्शी प्रक्रिया में, हमने किसी प्रकार का, कोई भेदभाव नहीं किया, हमने किसान को केवल किसान समझा और बिना किसी राजनीतिक चश्मे के, अपनी निष्पक्षता को कायम रखा। इसके कुछ उदाहरण यहां आपकी जानकारी के लिए प्रस्तुत हैं। कर्जमाफी के मुद्दे पर सबसे ज्यादा भ्रम फैलाने वाले प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गांव में ही, उनके कई परिवारजनों व सगे संबंधियों की कर्जमाफी हुई है, उदाहरण के लिए गोपाल सिंह यशवंत सिंह चौहान की 41820 रुपये की कर्ज माफी दिनांक 21 फरवरी 2019 को हुई, विमलेश महेंद्र सिंह चौहान कि 29517 रुपए की कर्जमाफी दिनांक 21 फरवरी 2019 को हुई, मुन्नीबाई कल्याण सिंह की 74555 रुपये की कर्ज माफी दिनांक 23 फरवरी 2019 को हुई, राजेंद्र सिंह पिता शिवपाल सिंह चौहान की 25678 की कर्जमाफी दिनांक 23 फरवरी 2019 को हुई, ये सभी नाम ग्राम- जैत बुधनी जिला सीहोर में कर्ज माफी की सूची के कुछ उदाहरण हैं । साफ है कि नरेन्द्र मोदी, शिवराज सिंह चौहान और स्मृति ईरानी सहित सभी भाजपा नेताओं के झूठ की पोल खुल चुकी है। श्रीमती ओझा ने कहा कि इसी प्रकार हरदा के भाजपा विधायक कमल पटेल की पत्नी रेखा कमल पटेल और उनके पुत्र सुदीप कमल पटेल के नाम भी कर्ज माफी की सूची में हैं। इन कुछ उदाहरणों से ही साफ हो जाता है कि भ्रम फैलाने वाली भाजपा के चाल-चरित्र और चेहरे के विपरीत, हमारी नीति और नीयत एकदम साफ है और हम आगे भी, प्रदेश के अन्नदाताओं और यहां की जनता के हितों को, उनके सपनों को पूरा करने के लिए न केवल तत्पर हैं, बल्कि पूरी तरह से वचनबद्ध भी हैं।

 इन्दौरः09 मई (रजनी खेतान) मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग की अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा ने बताया कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राहुल गांधी जी 11 मई, शनिवार को मध्यप्रदेश के दौरे पर रहेंगे। यहां वे तीन विशाल जनसभाओं को संबोधित करेंगे। इस दौरान उनके साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी भी उपस्थित रहेंगे। श्रीमती ओझा ने कहा कि 11 मई को श्री राहुल गांधी की पहली जनसभा, प्रदेश की देवास-शाजापुर लोकसभा के शुजालपुर में प्रातः 11:20 बजे होगी। उनकी दूसरी जनसभा धार लोकसभा के अमझेरा में दोपहर 1:40 बजे होगी और उसी दिन उनकी तीसरी जनसभा दोपहर 3:30 बजे खरगोन में होगी।

इन्दौरः09 मई, (मुकेश मिश्रा) चुनाव आयोग ने कमलनाथ सरकार में खेल और युवा विभाग के मंत्री जीतु पटवारी को आचार संहिता के एक मामले में क्लीन चिट दी है. जिला निर्वाचन अधिकारी ने मंत्री के जवाब को संतोषजनक मानते हुए यह फैसला दिया है.

गौरतलब है कि मंत्री पटवारी ने कांग्रेस प्रत्याशी पंकज संघवी के साथ चुनाव प्रचार में ग्रामीणों को जिम के लिए 25 लाख रुपए देने की बात कही थी. जिसे लेकर भारतीय जनता पार्टी में आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत की थी. इस मामले में जिला प्रशासन ने क्लीन चिट देते हुए अपनी रिपोर्ट चुनाव आयोग को भेज दी है जिसमें कहा गया है कि लोग जनप्रतिनिधि अधिनियम 123 धारा का उल्लंघन नहीं होना पाया गया है. इससे पहले जीतू पटवारी ने उन्हें दिए गए नोटिस का जवाब देते हुए कहा था कि कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में 52 पॉइंट पर खेल सुविधाएं एवं व्यामशाला खोलने की बात कही है इसलिए या उनके घोषणा पत्र मैं आता है.

 
 
इंदौरः08 मई,(मुकेश मिश्रा) किसानों के कर्ज माफी पर कमलनाथ सरकार को झूठा करार देते हुए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा कि 48 हजार करोड़ रुपए के कर्ज के बदले 13 सौ करोड़ रुपए स्वीकृति कर कांग्रेस प्रदेश के सभी किसानों की कर्ज माफी का दावा कर रही है। यह जादू सिर्फ कांग्रेस ही कर सकती है। आज भी किसानों के पास बैंकों से कर्ज वसूली के कागज क्यों आ रहे हैं? 
 
बुधवार को इंदौर में  पत्रकारों से चर्चा में करते हुए राकेश सिंह ने कहा कि कांग्रेस का कर्जमाफी धोखा किसान भाइयों को समझ आ गया है। उन्हें समझ आ गया है कि उनके साथ पंजाब और कर्नाटक के किसानों की भांति धोखा हुआ है।  कांग्रेस कर्जमाफी के जाल में बुरी तरह से फंस गई है।
 
मप्र में कांग्रेस बौखलाहट में है। कांग्रेस को समझ आ गया है कि भाजपा की सरकार बनने जा रही है। मप्र में हम भारी सीटें जीत रहे हैं। कांग्रेस एक बार फिर से किसानों को धोखा देने की कोशिश करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निवास पर कागजों का पुलिंदा लेकर दिखावे के लिए पहुंच गई और किसानों के कर्जमाफी का दावा करने लगी। सीधी बात है कि जब 48 हजार करोड़ का कर्ज किसानों का है तो फिर राशि भी उतनी ही स्वीकृति होनी चाहिए। कांग्रेस 13 सौ करोड़ रुपए स्वीकृति करके कांग्रेस 48 हजार करोड़ रुपए की कर्जमाफी का दावा कर रही है।
 
बीजेपी ने राहुल गांधी से सवाल   पूछा कि कल तक कांग्रेस भगवा आतंकवाद का डर और भय जनता को दिखा रही थी। आपके नेता भगवा आतंकवाद से देश को खतरा बता रहे थाे। वाे चुनाव आने के साथ ही भगवाधारियों के शरण पहुुंचकर चरणा वंदना करते नजर आ रहे हैं। मंदिर-मंदिर जाकर माथा टेक रहे हैं, इस बात की होड़ मची है कि कितने अधिक मंदिर तक वे पहुंच जाएं।
 
भोपाल से प्रत्याशी और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह जिस जाकिर नाईक को शांतिदूत कह रहे थे। श्रीलंका में हुए बम विस्फोट में वहां की सुरक्षा एजेंसियों ने  हाथ पाया है। इस बारे में कांग्रेस का क्या कहना है। उन्होंने कहा कि भाजपा के लिए भोपाल में कोई चुनौती नहीं है। साध्वी के मैदान में उतरने के बाद दिग्वियज सिंह की बिग्गी बन गई है। वे भोपाल से बाहर नहीं जा पा रहे हैं।

ओंकारेश्वर, इन्दौरः09 मई (मुकेश मिश्रा)  तीर्थ नगरी ओंकारेश्वर में एक डम्फर अनियंत्रित होकर एक झोपडी में घुस गया. जिससे झोपडी के अन्दर सो रही माँ और दो मासूम बच्चें कुचल गए. तीनों की मौके पर ही मौत हो गयी. पुलिस ने डम्फर को जब्त कर चालक को गिरफ्तार कर लिया है.

मन्धाता थाना प्रभारी जगदीशचन्द्र पाटीदार ने बताया कि घटना बुधवार रात करीब 11 बजे की है. संगम घाट के पास पुल निर्माण का कार्य चल रहा है. इसमें खरगोन के झिरन्या गाँव का रहने वाला शब्बीर बारेला(32) अपनी पत्नी मंजिता(30) के साथ मजदूरी करता था. घाट के पास ही व झोपडी बना कर दोनों अपने बच्चों शिवम (7) तथा सोहन (5) के साथ रहते थें. रात को शब्बीर पुल की चौकीदारी करने गया हुआ था. उसी समय निर्माण कार्य में लगा डम्फर (एमपी 34-एच-0140) ढालान से नीचे उतर रहा था. नीचे उतरते समय डम्फर अनियंत्रित हो गया और सीधे ना जाते हुए शब्बीर की झोपडी की तरफ चल गया. उस समय अन्दर उसकी पत्नी और दोनों बच्चें सो रहे थें.झोपडी को तोडते हुए अन्दर सो रहे तीनों को डम्फर ने कुचल डाला. तीनों लोगों को लेकर आस-पास के लोग अस्पताल भागे लेकिन तब तक उनकी मौत हो चूकी थी. पुलिस ने डम्फर को जब्त कर चालक को गिरफ्तार कर लिया है.