palpal

palpal

Email: यह ईमेल पता spambots से संरक्षित किया जा रहा है. आप जावास्क्रिप्ट यह देखने के सक्षम होना चाहिए.

भुवनेश्वर चक्रवाती तूफान फैनी का ओडिशा के तटीय क्षेत्रों से निकलकर और कमजोर पड़कर बांग्लादेश की तरफ बढ़ चुका है। ओडिशा में इसके चलते 12 लोग मारे गए। 20 साल पहले यानी 1999 में इसी तरह का सुपर साइक्लोन ओडिशा से टकराया था। तब करीब 10 हजार लोग इस आपदा का शिकार बने थे। इस बार क्षति इसलिए कम हुई क्योंकि राज्य और केंद्र सरकार को काफी पहले तूफान की जानकारी मिल चुकी थी। किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने की पूरी तैयारी युद्धस्तर पर की गई थी। इस बार 12 लाख लोगों को बचाया गया। 26 लाख लोगों को मैसेज कर तमाम जानकारियां दी गईं। इसके अलावा 43 हजार कर्मचारियों और वॉलंटियर्स को हालात से निपटने के लिए तैनात किया गया था।

ओडिशा और केंद्र सरकार के तमाम संबंधित विभाग फैनी से निपटने के लिए तैयार थे। करीब 10 लाख लोगों पर इसका असर होता। आपदा प्रबंधन के 1 हजार प्रशिक्षित कर्मचारी खतरे की आशंका वाली जगहों पर भेजे गए। 300 हाईपावर बोट हर पल तैनात रहीं। टीवी, कोस्टल साइरन और पुलिस के अलावा हर उस साधन का उपयोग किया गया जो आमजन की सुरक्षा के लिए जरूरी था। इसके लिए उड़िया भाषा का ही इस्तेमाल किया गया। संदेश साफ था- तूफान आ रहा है, शिविरों में शरण लें।

अमेरिकी मीडिया भी मान रहा है कि भारत ने एक बहुत बड़ी आपदा का सामना पूरी सफलता से किया। इसके लिए सही रणनीति अपनाई गई, उपयुक्त और आधुनिक संसाधनों का इस्तेमाल किया गया। यही वजह है कि करीब 10 लाख लोगों को सुरक्षित रखा जा सका। ओडिशा और केंद्र सरकार ने मिलकर काफी पहले से इसकी तैयारी की थी। 1999 के बाद से ही ओडिशा में हजारों शेल्टर होम बनाए गए थे। मौसम विभाग के चार सेंटर तूफान की हर हरकत पर न सिर्फ पैनी नजर रख रहे थे बल्कि उसके हिसाब से अपनी योजना भी तैयार कर रहे थे।

आपदा प्रबंधन में देश के कुछ खास तकनीकी संस्थानों की मदद ली गई। इनमें आईआईटी खड़गपुर का नाम अहम है। मौसम विभाग के वैज्ञानिकों ने समझ लिया था कि बंगाल की खाड़ी के गरम पानी से तूफान का असर ज्यादा होगा। लिहाजा, तैयारियों का स्तर बेहतर रखा गया। ओडिशा गरीब राज्य है। इसलिए संसाधनों का इस्तेमाल समझदारी से किया गया। एनडीआरएफ की टीमों को काफी पहले संबंधित क्षेत्रों में पहुंचा दिया गया था। मछुआरों से संपर्क कर उन्हें तमाम हिदायतें दी गईं थीं। लकड़ी की नावों को किनारों पर सुरक्षित पहुंचा दिया गया था। बुजुर्ग, बच्चों और महिलाओं को शिविरों में सबसे पहले पहुंचाया गया।

जयपुर। भाजपा जयपुर शहर लोकसभा प्रत्याशी श्री रामचरण बोहरा के समर्थन में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के द्वारा स्टार गार्डन, घोड़ा निकास रोड़, रामगंज चोपड़, जयपुर में अल्पसंख्यक कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि व वक्ता केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी रहे एवं इस कार्यक्रम की अध्यक्षता मोर्चा प्रभारी एवं चैयरमेन दरगाह कमेटी, अजमेर अमीन पठान ने की। इस कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्री व वक्ता मुख्तार अब्बास नकवी ने केन्द्रीय सरकार द्वारा अल्पसंख्यक योजनाओं के बारे में अवगत करवाया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के शासनकाल में मुस्लिम समाज सुरक्षित है।

अजमेर दरगाह कमेटी चैयरमेन अमीन पठान ने केन्द्रीय सरकार का आभार व्यक्त करते हुये कहा कि ख्वाजा गरीब नवाज यूनिवर्सिटी राजस्थान का एक सपना था जो भाजपा शासित कार्यकाल में पूरा किया गया।  इस आयोजन में उपस्थित भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. मजीद मलिक कमाण्डो ने कहा कि मुस्लिम समाज भाजपा के साथ है व भाजपा जयपुर शहर लोकसभा प्रत्याशी को भारी बहुमत से जिताकर प्रधानमंत्री मोदी जी को एक बार फिर पुनः जितायेंगे।

 

नई दिल्ली : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता दिल्ली के बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी पर जमकर हमला बोला। अपने चुनावी प्रचार के लिए एक कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने बीजेपी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष पर कटाक्ष करते हुए कहा कि मनोज तिवारी नाचता बहुत है। पांडे जी को नाचना नहीं आता है, काम करना आता है। यहां पांडे जी से उनका इशारा आम आदमी पार्टी के नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के लोकसभा उम्मीदवार दिलीप पांडे से था।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पांडे को नाचना नहीं आता है, उन्हें काम करना आता है, इस बार काम करने वाले को वोट देना, नाचने वाले को वोट मत देना। बता दें कि नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली से आप पार्टी के उम्मीदवार दिलीप पांडे हैं तो वहीं इसी क्षेत्र से मनोज तिवारी बीजेपी के लोकसभा कैंडिडेट हैं।

केजरीवाल के इस बयान पर अब मनोज तिवारी की प्रतिक्रिया भी सामने आ गई है। उन्होंने इस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मुझे गाली देकर उन्होंने मेरा नहीं बल्कि पूर्वांचल के लोगों का अपमान किया है। अब यही जनता उन्हें इसका जवाब दिखाएगी।

दिल्ली में छठे चरण में कुल सातों सीटों पर लोकसभा चुनाव के लिए वोटिंग होनी है। ये मतदान 12 मई को चांदनी चौक, उत्तर पूर्वी दिल्ली, पूर्वी दिल्ली, नई दिल्ली, उत्तर पश्चिम दिल्ली, पश्चिम दिल्ली और दक्षिण दिल्ली में होने हैं। इसके लिए चुनावी उम्मीदवारों का लगातार जनता के बीच चुनाव प्रचार जारी है।

 

उज्जैन / सिलीगुड़ी : अम्बाजी म्यूजिक प्रोडक्शन के बैनरतले गौ वंश पर केंद्रित तीन मार्मिक गीतों से सुसज्जित वीडियो एलबम "गौ माता की रक्षा करेंगे" की रिलीजिंग 11 मई को भारत के साथ ही अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अमेरिका, नेपाल व भूटान में भी किया जायेगा.
अम्बाजी म्यूजिक प्रोडक्शन के सह निर्माता विशाल जैन ने बताया की "गौ माता की रक्षा करेंगे" की रिलीजिंग ११ मई को भारत में पश्चिम बंगाल के पांच देशों के अंतर्राष्ट्रीय बॉर्डर पर स्थित सिलीगुड़ी में अम्बाजी म्यूजिक प्रोडक्शन के निर्माता एवं निर्देशक विनायक अशोक लुनिया सहित समाज के  वरिष्ठ जानो के साथ किया जायेगा. तो वहीँ अमेरिका के न्यूयॉर्क सिटी में अंतराष्ट्रीय तबला वादक आदित्य नारायण बैनर्जी एलबम की रिलीजिंग करेंगे. वहीँ भूटान के पारो शहर में व नेपाल के पोखरा में एलबम को रिलीज किया जायेगा. निर्माता विनायक लुनिया ने बताया की पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी और बिहार के समीप बने पांच देशों के अंतर्राष्ट्रीय बॉर्डर पर देश भर से भारी मात्रा में गौ तस्करी होती है और हमारा उपदेश्य वहां जनजागृति लाना है इसलिए सिलीगुड़ी का चयन किया गया है. 
ज्ञातव्य रहे की चार दशक से गौ संरक्षण के लिए संघर्षरत स्व. श्री अशोक जी लुनिया साहब द्वारा वर्ष 2010 में गौ हत्या के विरोध में "जियो और जीने दो" नमक हिंदी फीचर फिल्म बना कर देश दुनिया में गौ वर्ष को राष्ट्रीय पशु घोषित करने की मांग स्व. श्री लुनिया जी द्वारा मजबूत किया गया था वहीँ देश भर में कई कत्लखानो को बंद करवाने में भी फिल्म ने अहम् भूमिका निभा चुकी है. और उक्त एलबम भी आज स्व. श्री लुनिया जी को समर्पित है. 

 

कोलकाता : हाल ही में पश्चिम बंगाल के कोलकाता स्थित ICCR स्टेडियम में लिम्का बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करवा चुके अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त कलाकारों ने बंगाली नववर्ष सेलेब्रेशन में कला का गढ़ कहे जाने वाले पश्चिम बंगाल के कोलकाता में कला प्रेमियों को दांत तले ऊँगली चबाने को मजबूर कर दिया. तो वहीँ संगीत प्रेमियों के वन्स मोर की आवाज़ से पूरा स्टेडियम गूंज गया.
बंगाली नव वर्ष के मौका पर कोलकाता से यूट्यूब चैनल कैलकॉलिंग और सच्चा दोस्त न्यूज़ के माध्यम से आयोजित 'चिरो नूतनर दिलो दाक ’ नामक कार्यक्रम में व्हाइट हाउस में प्रदर्शन करने वाले एकमात्र भारतीय पर्क्युशनिस्ट होने का दुर्लभ गौरव प्राप्त 'राष्ट्रगौरव' ताल सम्राट तबलावादक आदित्य नारायण बैनर्जी, संगीत में बारीकी से अपनी पकड़ रखने वाले बॉलीवुड म्यूजिक डायरेक्टर कौस्तब सरकार (राणा),  व सितार को विभिन्न वादन यंत्र के स्टाइल में बजाने वाले सितार मेस्ट्रो संदीप बैनर्जी की लिम्का बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड की तिगड़ी सहित संगीता दास (मुखर कलाकार), अमितादित्य सान्याल (मुखर कलाकार), अशोक घोष (इलेक्ट्रॉनिक्स पैड), गौतम दे (गिटार) ने संगीत की मधुर धुन पर श्रोताओं को बंधे रखा. 
तीन घंटे के इस संगीतमय माहौल में पूरा स्टेडियम मनो ऐसा प्रतिक हो रहा था जैसे संगीत ईश्वर है कलाकार पुजारी और श्रोता ईश्वर की सेवा (ध्यान) में मग्न हो...
 

 

अजमेर (कलसी)। सारथी आपके साथ समाज सेवा संस्था द्वारा जनसहयोग से नगरनिगम अजमेर द्वारा संचालित गौशाला कांजी हाउस में रहने वाली गायों को हरा चारा खिलाये जाने मुहीम गौ सारथी शिवरात्रि से शुरू करी थी वो लगातार जारी है। अध्यक्ष मनीष गोयल एवं उपाध्यक्ष देवेन्द्र गुप्ता ने बताया कि संस्था द्वारा गर्मी में सप्ताह में कम से कम 2 ट्रॉली हरा चारा गायों के लिए संस्था की ओर से भेजा जा रहा है। इसके अलावा संस्था की कोशिश है की प्रत्येक दिन एक ट्रोली हरा चारा काँजी हाऊस भेजा जा सके इसी कोशिश में संस्था सदस्यों द्वारा अपने एवं परिवारजनों के जन्म दिन एवं शादी की वर्षगांठ आदि पर भी गायों को चारा डालने के लिए प्रेरित किया जा रहा है ताकि काँजी हाउस में अधिक से अधिक हरा चारा भेजा जा सके। संस्था की इसी मुहिम लगभग 15 ट्रोली हरा चारा विभिन्न लोगों से प्राप्त हुआ है इसी कडी में आज पुलिस लाइन निवासी नरेंद्र भारद्वाज की माताजी की पुण्यतिथि पर एक ट्रोली हरा चारा डलाया गया। गौ सारथी मुहिम से जुडने के लिए संस्था कार्यालय मनीष कम्प्यूटर केसरगंज एवं टॉय वर्ल्ड मदारगेट अजमेर पर सम्पर्क किया जा सकता है। चारा भेंट करने वालों में नरेंद्र भारद्वाज, अनिल गोयल, नौरत बंसल, शिव शंकर अग्रवाल, श्रीमती अनीता गोयल, जय गोयल, पीयूष चंदावत, राहुल गोयल, विनोद बंसल आदि संस्था सदस्य उपस्थि थे।