राष्ट्रीय (228)

राष्ट्रीय

नई दिल्ली। तमिलनाडु और कर्नाटक से चुनाव के दौरान भारी मात्रा में कैश और चल संपत्ति बरामद की जा रही है। इसी कड़ी में आयकर विभाग ने कर्नाटक और गोवा में अलग-अलग जगह छापे मार कर 4 करोड़ रुपए सीज किए हैं। कर्नाटक के शिमोगा जिले में बेंगलुरु से शिमोगा जा रही एक कार की स्टेपनी से लगभग 2.40 करोड़ रुपए बरामद किए गए हैं।

आयकर विभाग ने कार्रवाई का एक वीडियो भी जारी किया है जिसमें कार की स्टेपनी खोलने पर उसके अंदर से 2-2 हजार के नोट निकाले जा रहे हैं। इस छापेमारी में एक व्यक्ति को गिरफ्तार भी किया गया है। आयकर विभाग (Income tax department) की इस छापेमारी में कार की स्पेयर टायर से 2.40 करोड़, कार की इंटसेप्शन से 40 लाख, बगलकोट में एक बैंक कर्मी से एक करोड़ रुपए, गोवा में करीब 30 लाख रुपए की ज्वेलरी और बीजापुर से 10 लाख की नकदी बरामद की गई है।

सूत्रों के मुताबिक सीज की गई संपत्ति को बेंगलुरु से शिमोगा और भद्रावती ट्रांसफर किया जा रहा था। विभाग इस पर नजर बनाए हुए था। जब नकदी के साथ गिरफ्तार व्यक्ति बेंगलुरु से भद्रावती जा रहा था तो उसे रोक लिया गया। आरोपी नकदी को स्कॉर्पियो कार से ले जा रहा था। कार की स्टेपनी जब फाड़ी गई तो उसमें से 2-2 हजार के नोट निकले।

नई दिल्ली। भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर (Sadhvi Pragya Singh Thakur) लगातार विवादित बयान दे रही हैं। शहीद हेमंत करकरे पर विवादित टिप्पणी के बाद अब साध्वी प्रज्ञा ने बाबरी मस्जिद-राम जन्मभूमि विवाद को लेकर विवादित बयान (controversial statement) दे डाला है। साध्वी ने कहा कि वह बाबरी मस्जिद ढांचे पर चढ़ी थीं, उसे गिराने में मदद की थी और अब उसी जगह पर राम मंदिर बनाया जाएगा जिसमें मैं मदद करूंगी। साध्वी के इस बयान के बाद चुनाव आयोग ने तुरंत एक्शन लेते हुए उन्हें नोटिस थमा दिया और साथ ही सभी राजनीतिक पार्टियों को इस बारे में एडवाइजरी भी जारी कर दी है।

भोपाल (Bhopal) में एक टीवी चैनल के कार्यक्रम में साध्वी प्रज्ञा ने कहा, “निश्चित तौर पर राम मंदिर बनाया जाएगा जो कि भव्य होगा। हम मंदिर बनाएंगे। आखिर, ढांचे को ध्वस्त करने के लिए भी तो हम गए थे। मैंने ढांचे पर चढ़कर उसे तोड़ा था। अब हम वहीं राम मंदिर बनाएंगे। मैं वहां जाकर राम मंदिर निर्माण में भी मदद करूंगी। कोई हमें ऐसा करने से नहीं रोक सकता। राम राष्ट्र हैं, राष्ट्र राम हैं।”

मध्यप्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी वीएल कांता राव ने सभी राजनीतिक दलों को चेतावनी (Warning) भरी सलाह दी है। उन्होंने कहा, ‘लगातार चुनाव और आचार संहिता के नियमों का उल्लंघन व अपमानजनक भाषा का प्रयोग करने पर कड़ी कार्रवाई की जा सकती है।’

पटना : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। भाजपा नेता एवं बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने गुरुवार को राहुल गांधी के खिलाफ आपराधिक मानहानि का केस दर्ज कराया। भाजपा नेता ने यह केस राहुल के 'सभी मोदी चोर' वाले बयान के लिए दर्ज कराया है। कांग्रेस अध्यक्ष ने अपनी एक रैली में 'सारे मोदी चोर हैं' बयान दिया था। राहुल के इस बयान के बाद भाजपा उन पर हमलावर थी। अब सुशील मोदी ने उनके खिलाफ मानहानि का केस दर्ज कराया है।

सुशील मोदी ने मीडिया को बताया कि उनके वकील ने पटना में चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट (सीजेएम) कोर्ट में भारतीय दंड संहिता की धारा 500 के तहत कांग्रेस अध्यक्ष के खिलाफ केस दर्ज कराया है। उन्होंने कहा कि कोर्ट 22 अप्रैल को इस केस की सुनवाई कर सकता है। भाजपा नेता ने मंगलवार को कहा था कि वह राहुल के खिलाफ केस दर्ज कराएंगे क्योंकि उनके बयान ने 'मोदी सरनेम' रखने वाले लोगों की भावनाओं को आहत किया है।    

मोदी ने कहा, 'मैं राहुल गांधी के इस बायन से काफी आहत हूं। उन्होंने अपने बयान में कहा है कि जिसके भी नाम के आगे मोदी लगा है वे सभी चोर हैं। पीएम मोदी का अपमान करने के अलावा उन्होंने निजी रूप से मुझे आहत किया है क्योंकि मेरे भी नाम के आगे मोदी लगा है। मैं उन पर मानहानि का केस दर्ज करूंगा।'

गत सोमवार को महाराष्ट्र के नांदेड़ में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि 'मैं हैरान हूं कि सभी चोरों के नाम के आगे मोदी है।' राहुल गांधी का इशारा आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी, भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी की तरफ था। राफले डील में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए राहुल अपने चौकीदार नारे के जरिए पीएम मोदी पर निशाना साधते आए हैं। 

 

नई दिल्ली: मंगलवार को आई तेज आंधी और बारिश ने मध्य प्रदेश, गुजरात और राजस्थान में भारी तबाही मचाई है। मध्य प्रदेश में पिछले दो दिनों में बारिश, तूफान और बिजली गिरने से 16 लोगों की मौत हो गई है। वहीं राजस्थान के विभिन्न हिस्सों में बारिश और तूफान से 6 लोगों की मौत हो गई है। इसके अलावा गुजरात में 9 लोगों की मौत हुई है।

वहीं इस पर राजनीति भी शुरू हो गई है। दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के विभिन्न हिस्सों में बेमौसम बारिश और तूफान के कारण जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2-2 लाख रुपए की अनुग्रह राशि को मंजूरी दी है। घायलों को 50 हजार रुपए की मदद दी जाएगी। 

इस पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा, 'मोदी जी, आप देश के पीएम ना कि गुजरात के। एमपी में भी बेमौसम बारिश व तूफान के कारण आकाशीय बिजली गिरने से 10 से अधिक लोगों की मौत हुई है। लेकिन आपकी संवेदनाएं सिर्फ गुजरात तक सीमित? भले यहां आपकी पार्टी की सरकार नहीं है लेकिन लोग यहां भी बस्ते हैं।' 

हालांकि बाद में पीएम मोदी की तरफ से ऐलान किया गया कि ये मदद सभी राज्यों के पीड़ितों के लिए है। महाराष्ट्र में अपनी जनसभा में मोदी ने कहा, 'महाराष्ट्र, गुजरात और अन्य कुछ राज्यों में कल आए तुफान में कई लोगों की मृत्यु हुई है। किसानों की फसलों का भी नुकसान हुआ है। मैंने अफसरों से कहा है कि आम जन को जल्द से जल्द सहायता पहुंचाई जाए। जिन्होंने अपने स्वजन खोए हैं उन परिवारों के प्रति मैं संवेदना व्यक्त करता हूं।' 

गुजरात के साबरकांठा जिले के हिम्मतनगर में आज होने वाली प्रधानमंत्री मोदी की रैली के लिए लगाए गए टेंट का एक हिस्सा धूल भरी आंधी के कारण क्षतिग्रस्त हो गया। स्थानीय भाजपा नेताओं ने बताया कि टेंट का कुछ हिस्सा या तो उड़ गया या फट गया। उन्होंने कहा कि लोगों को छाया उपलब्ध कराने और स्टेज पर नेताओं के बैठने के लिए व्यवस्था की गई थी।

तिरुवनंतपुरम, जेएनएन। लोकसभा चुनाव के सियासी पारे के बीच जहां हर दल एक दूसरे पर अरोपों की बौछार कर रहा है, ऐसी बयानबाजी हो रही है कि चुनाव आयोग को कार्रवाई तक करनी पड़ रही है। लेकिन इन सब के बीच एक ऐसी तस्वीर सामने आई है, जिसे देखकर आपको थोड़ा सूकून जरूर मिलेगा। केरल के तिरुवंतपुरम के अस्पताल में भर्ती कांग्रेस नेता शशि थरूर को देखने के लिए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण पहुंची। अस्पताल पहुंचकर निर्माणा सीतारमण ने शशि थरूर का हाल जाना। शशि थरूर ने खुद फोटो शेयर करते हुए तारीफ की है।

बता दें कि सोमवार को कांग्रेस नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर गंभीर रुप से घायल हो गए थे। चुनाव प्रचार के चलते सोमवार को तिरुवनंतपुरम के एक मंदिर में थरूर पूजा अर्चना के लिए पहुंचे हुए थे। पूजा के दौरान ही थरूर के सिर पर गंभीर चोटें आई है। इलाज के दौरान थरुर के सिर पर 6 टांके लगाए गए हैं।

सिर में चोट आते ही थरूर को अस्पताल में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों ने शशि थरूर को खतरे से बाहर बताया है। बताया जा रहा है कि कांग्रेस नेता शशि थरुर थंपनूर में गांधारी अम्म कोविल मंदिर में पूजा के लिए पहुंचे हुए थे। मंदिर की परंपरा के अनुसार पूजा कर रहे व्यक्ति को तराजू में बैठाया जाता है। तराजू के एक तरफ प्रसाद व चढ़ावा रखा गया था, तो दूसरी तरफ शशि थरूर को बैठाया गया था। थरूर के तराजू में बैठते ही तराजू की डोर टूट गई और वो जमीन में गिर गए। जमीन में नीचे गिरते ही उनके सिर में गंभीर चोटें आई हैं। इलाज के दौरान सिर पर 6 टांके लगाए गए हैं।

फिल्म अभिनेत्री और मुंबई नॉर्थ लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार उर्मिला मातोंडकर ने कहा है कि उनकी जान को खतरा है. उन्होंने पुलिस सुरक्षा की मांग भी की है. बता दें कि उर्मिला के प्रचार के दौरान बीजेपी-कांग्रेस कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए थे. दोनों के बीच जमकर हाथापाई भी हुई.

इस मामले पर बोलते हुए उर्मिला मातोंडकर ने कहा, 'यह डर पैदा करने के लिए किया गया. यह तो बस शुरुआत है, यह हिंसक रूप लेगा. मैंने पुलिस सुरक्षा की मांग भी की है. मेरी जान को खतरा है, मैंने इस मामले में शिकायत भी दर्ज कराई है.'

बता दें कि सोमवार को मुंबई के बोरीवली में उर्मिला मातोंडकर के चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं और बीजेपी समर्थकों के बीच जमकर हाथापाई हुई. बताया जा रहा है कि फिल्म अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर यहां चुनाव प्रचार कर रही थीं, तभी बीजेपी समर्थक वहां पहुंचकर मोदी, मोदी के नारे लगाने लगे. इस पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं और बीजेपी समर्थकों के बीच जमकर हाथापाई हो गई.

कांग्रेस ने उर्मिला को मुंबई नॉर्थ से अपना उम्मीदवार बनाया है. वो बीजेपी के गोपाल शेट्टी के खिलाफ चुनाव लड़ रही हैं. गोपाल शेट्टी ने 2014 में कांग्रेस नेता संजय निरुपम को बड़े अंतर से हराया था.

 
 

नई दिल्ली: राफेल सौदे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लगातार निशाना साधने वाले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के लिए मुश्किल खड़ी होती दिख रही हैं। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी को उनके खिलाफ दायर अवमानना याचिका के संबंध में नोटिस जारी किया है। सुप्रीम कोर्ट ने उनसे स्पष्टीकरण मांगा है। बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने उनके खिलाफ ये याचिका दायर की थी, जिस पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की। राहुल गांधी को सोमवार से पहले सुप्रीम कोर्ट में जवाब दाखिल करना है। कोर्ट ने मामले की आगे की सुनवाई के लिए सोमवार 22 अप्रैल की तारीख तय की है।

याचिकाकर्ता मीनाक्षी लेखी ने अपनी याचिका में दावा किया है कि कांग्रेस अध्‍यक्ष की ओर से रैलियों में और अन्‍य माध्‍यमों से अपनी बात को सुप्रीम कोर्ट का हवाला देकर कहा जा रहा है। नई दिल्ली संसदीय क्षेत्र से सांसद मीनाक्षी लेखी ने अपनी याचिका में आरोप लगाया है कि राहुल गांधी ने अपनी व्यक्तिगत टिप्पणियों को शीर्ष अदालत के मुंह में डाला है और इस तरह उन्होंने गलत धारणा पैदा करने का प्रयास किया है। मीनाक्षी लेखी की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने पीठ से कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष ने कथित रूप से टिप्पणी की कि अब सुप्रीम कोर्ट ने भी कह दिया कि चौकीदार चोर है।

हाल ही में राहुल गांधी ने अमेठी सीट के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद संवाददाताओं से कहा था, 'अब सुप्रीम कोर्ट ने भी स्पष्ट कर दिया है कि चौकीदार ने चोरी की है।' उन्होंने दावा किया कि शीर्ष अदालत ने स्वीकार किया है कि राफेल में कुछ भ्रष्टाचार है।

मुरादाबाद:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि जिसमें दम होता है दुनिया उसकी सुनती है और देश को झुकने वाली नहीं बल्कि दमदार सरकार की जरूरत है। इस दौरान उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र करते हुए कहा, 'आतंक को सर्जिकल स्ट्राइक से दिन में तारे दिखाए। दुनिया में उसकी ही बात सुनी जाती है जिसमे दम होता है जो रोता रहता है है उसकी कोई नहीं सुनता। जिस नए भारत को बनाने का संकल्प हमने लिया है वो दमदार भी होगा और असरदार भी होगा

कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए पीएम मोदी ने कहा, ' पहले क्या होता था? आतंकी पाकिस्तान से आते थे और हम पर हमला करते थे। कांग्रेस सरकार इसके बार विश्व के सामने रोती थी कि हम पर हमला हुआ है। लेकिन यह नया भारत है। जब आतंकियों ने उड़ी हमला किया  तो हमारे बहादुर जवानों ने वहां सर्जिकल स्ट्राइक की। जब उन्होंने पुलवामा में दूसरी गलती की तो हम उनके घर में घुसे और एयर स्ट्राइक की। उधर वालों को भी समझ में आ गया है कि अगर तीसरी गलती हुई तो लेने के देने पड़ जाएंगे।' प्रधानमंत्री ने कहा कि आज पाकिस्तान के साथ अपने भी खड़े नहीं है और पूरी दुनिया भारत के साथ खड़ी है। महागठबंधन पर हमला करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, 'सपा-बसपा-कांग्रेस की महामिलावट की यही मानसिकता है कि यूपी में बेटियों के साथ अत्याचार चरम पर था।पश्चिमी यूपी में गुंडों ने बेटियों का जीना मुश्किल कर रखा था। योगी जी, की सरकार ने इस गुंडागर्दी पर प्रहार किया हैकई बार लोग पूछते हैं कि मैं उनको गठबंधन के बजाय महामिलावट क्यों कहता हूं? अब देखिए कैसे-कैसे लोग साथ आए हैं। ये किसने कहा था कि बहन जी ने यूपी की जनता को इतना लूटा है, कि उनकी मूर्तियों के पर्स टटोलोगे तो शायद उसमें से भी पैसे निकलेंगे।'

सैटेलाइट परीक्षण का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा, 'भारत के पास दशक भर से सैटेलाइट को मारने वाली तकनीक थी। कांग्रेस की सरकार से वैज्ञानिक इजाजत मांगते रहे, लेकिन वो रिमोट कंट्रोल वाली सरकार कांपती रही। अब इस चौकीदार से वैज्ञानिकों ने पूछा तो इस चौकीदार की सरकार ने सैटेलाइट उड़ाने वाली मिसाइल के परीक्षण को तुरंत हरी झंडी दे दी। अंतरिक्ष में भारत का शानदार प्रदर्शन आज चर्चा का विषय बना हुआ है।'

तीन तलाक का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, 'इन लोगों की यही मानसिकता है कि हमारी मुस्लिम बहनें तीन तलाक जैसे अत्याचार को सहने के लिए मजबूर हैं। मैं उन्हें फिर विश्वास दिलाता हूं कि 23 मई को फिर एक बार मोदी सरकार बनने के बाद तीन तलाक पर बना कठोर कानून संसद में फिर से लाया जाएगा।'

जम्मू: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को जम्मू के कठुआ में एक जनसभा को संबोधित करते हुए एक बार फिर गांधी परिवार पर निशाना साधा। इस बार उनके निशाने पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह भी रहे। पूरा देश कल जलियांवाला बाग कांड की शताब्दी पर शहीदों को श्रद्धांजलि दे रहा था लेकिन कांग्रेस ने इस संवेदनशील अवसर का भी राजनीतिकरण कर दिया। उपराष्ट्रपति सरकार के आयोजन के लिए जलियांवाला बाग में थे, उन्होंने शहीदों को श्रद्धांजलि दी, लेकिन कांग्रेस के सीएम वहां नहीं थे।

पीएम मोदी ने कहा, 'उन्होंने इस कार्यक्रम का बहिष्कार इसीलिए किया क्योंकि वो कांग्रेस परिवार की भक्ति में जुटे हुए थे। वे कांग्रेस के नामदार के साथ जलियांवाला बाग गए। लेकिन भारत सरकार के अधिकृत कार्यक्रम में उपराष्ट्रपति के साथ जाना उन्होंने सही नहीं समझा। यही राष्ट्र भक्ति और परिवार भक्ति का फर्क है।'

उन्होंने कहा, 'मैं कैप्टन अमरिंदर सिंह को बरसों से जानता हूं। मैं समझ सकता हूं कि इस परिवार भक्ति के लिए उन पर किस तरह दबाव बनाया गया। पंजाब में जिस तरह के दांव पेंच चलाए जा रहे हैं, उसके सामने कैप्टन को भी झुकना पड़ गया।'

जलियांवाला बाग में 13 अप्रैल, 1919 को बैसाखी के दौरान नरसंहार हुआ था जब कर्नल आर डायर की कमान में ब्रिटिश भारतीय सेना के जवानों ने आजादी के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे लोगों पर गोलियां चलायी थी। 1919 की उस घटना की याद में संस्कृति मंत्रालय द्वारा अमृतसर में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था।

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने ट्वीट करते हुए कहा कि जलियांवाला बाग नरसंहार हम में से हर एक को यह याद दिलाता है कि हमारी आजादी कितनी कठिन और मूल्‍यवान है। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्‍यपूर्ण घटना 1919 में बैसाखी के दिन घटी जो औपनिवेशिक क्रूरता और विवेकहीन क्रोध को दर्शाती है।