-->

देश को झुकने वाली नहीं बल्कि दमदार सरकार की जरूरत - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

मुरादाबाद:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि जिसमें दम होता है दुनिया उसकी सुनती है और देश को झुकने वाली नहीं बल्कि दमदार सरकार की जरूरत है। इस दौरान उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र करते हुए कहा, 'आतंक को सर्जिकल स्ट्राइक से दिन में तारे दिखाए। दुनिया में उसकी ही बात सुनी जाती है जिसमे दम होता है जो रोता रहता है है उसकी कोई नहीं सुनता। जिस नए भारत को बनाने का संकल्प हमने लिया है वो दमदार भी होगा और असरदार भी होगा

कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए पीएम मोदी ने कहा, ' पहले क्या होता था? आतंकी पाकिस्तान से आते थे और हम पर हमला करते थे। कांग्रेस सरकार इसके बार विश्व के सामने रोती थी कि हम पर हमला हुआ है। लेकिन यह नया भारत है। जब आतंकियों ने उड़ी हमला किया  तो हमारे बहादुर जवानों ने वहां सर्जिकल स्ट्राइक की। जब उन्होंने पुलवामा में दूसरी गलती की तो हम उनके घर में घुसे और एयर स्ट्राइक की। उधर वालों को भी समझ में आ गया है कि अगर तीसरी गलती हुई तो लेने के देने पड़ जाएंगे।' प्रधानमंत्री ने कहा कि आज पाकिस्तान के साथ अपने भी खड़े नहीं है और पूरी दुनिया भारत के साथ खड़ी है। महागठबंधन पर हमला करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, 'सपा-बसपा-कांग्रेस की महामिलावट की यही मानसिकता है कि यूपी में बेटियों के साथ अत्याचार चरम पर था।पश्चिमी यूपी में गुंडों ने बेटियों का जीना मुश्किल कर रखा था। योगी जी, की सरकार ने इस गुंडागर्दी पर प्रहार किया हैकई बार लोग पूछते हैं कि मैं उनको गठबंधन के बजाय महामिलावट क्यों कहता हूं? अब देखिए कैसे-कैसे लोग साथ आए हैं। ये किसने कहा था कि बहन जी ने यूपी की जनता को इतना लूटा है, कि उनकी मूर्तियों के पर्स टटोलोगे तो शायद उसमें से भी पैसे निकलेंगे।'

सैटेलाइट परीक्षण का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा, 'भारत के पास दशक भर से सैटेलाइट को मारने वाली तकनीक थी। कांग्रेस की सरकार से वैज्ञानिक इजाजत मांगते रहे, लेकिन वो रिमोट कंट्रोल वाली सरकार कांपती रही। अब इस चौकीदार से वैज्ञानिकों ने पूछा तो इस चौकीदार की सरकार ने सैटेलाइट उड़ाने वाली मिसाइल के परीक्षण को तुरंत हरी झंडी दे दी। अंतरिक्ष में भारत का शानदार प्रदर्शन आज चर्चा का विषय बना हुआ है।'

तीन तलाक का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, 'इन लोगों की यही मानसिकता है कि हमारी मुस्लिम बहनें तीन तलाक जैसे अत्याचार को सहने के लिए मजबूर हैं। मैं उन्हें फिर विश्वास दिलाता हूं कि 23 मई को फिर एक बार मोदी सरकार बनने के बाद तीन तलाक पर बना कठोर कानून संसद में फिर से लाया जाएगा।'