खेल (26)

खेल

  • 12
  • दिस

मुंबई। पिछले साल भारत के पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी अनिल कुंबले के अचानक भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच पद से इस्तीफा दिए जाने के बाद एक बड़ा विवाद खड़ा हो गया था। हालांकि, समय के साथ इस विवाद की आंच धीमी पड़ गई थी लेकिन एक बार फिर यह बाहर आ गया है। वेबसाइट ईएसपीएन की रिपोर्ट के अनुसार, सर्वोच्च न्यायालय द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति (सीओए) की सदस्य डायना एडुल्जी ने इस मामले में नया खुलासा करते हुए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) पर आरोप लगाया है।

एडुल्जी का कहना है कि बीसीसीआई ने कुंबले के इस्तीफे के बाद रवि शास्त्री को भारतीय पुरुष टीम का कोच नियुक्त कर नियमों का उल्लंघन किया है। एडुल्जी ने कहा कि भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली लगातार बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी को कुंबले के बारे में संदेश भेजते रहते थे, जिसके कारण कुंबले को इस्तीफा देना पड़ा। उल्लेखनीय है कि बीसीसीआई ने जब कुंबले को बताया कि कप्तान कोहली उनके कोचिंग के तरीके से खुश नहीं हैं, तो कुंबले ने मुख्य कोच के पद से इस्तीफा दे दिया।

एडुल्जी का यह पूरा गुस्सा भारतीय महिला क्रिकेट टीम की नियुक्ति के लिए बीसीसीआई द्वारा गठित की गई एड-हॉक कमेटी की घोषणा के बाद फूटा है। उनका कहना है कि अगर कोहली की प्राथमिकता पर शास्त्री को भारतीय पुरुष टीम का कोच बनाया जा सकता है, तो हरमनप्रीत कौर और स्मृति मंधाना की गुजारिश पर रमेश पोवार को महिला टीम के कोच पद पर बरकरार क्यों नहीं रखा जा सकता।

  • 14
  • अक्टू

भोपाल। सीहोर में पिछले 4 दिनों से चल रही राज्यस्तरीय कुश्ती में पूरे प्रदेश के 51 जिलो से आये बालक बालिकाओं ने अपने हुनर के तेवर दिखाए।

अलग अलग उम्र और वजन में अपनी प्रबल दावेदारी प्रस्तुत कर 11 पहलवानो ने नेशनल कुश्ती में अपना स्थान पक्का किया ।


लड़कियों ने भी दंगल को अपना आदर्श बना अपने प्रतिद्वंद्वी को पछाड़ दिया। बालिकाओं में इस बार 100 का आकड़ा पार कर लिया।
सीहोर में प्रदेश भर के पहलवान अपने कोच के साथ इकठ्ठा हुए।


63 वी राज्य स्तरीय शालेय फ्री स्टाइल एवं ग्रीको रोमन कुश्ती प्रतियोगिता 2017 में अपने अपने दाव पेंच दिखा कर नेशनल में जाने का रास्ता अपने नाम कर लिया और अपने जिले अपने अखाड़े का नाम रोशन किया।


प्रमुख रूप से 54 किलो फ्री स्टाइल में इंदौर के बालक केजस केलोनिया ने अपना सिक्का 10 -0 से बना एकतरफा जीत हासिल की । हर राउंड में केजस केलोनिया ने अपना वर्चस्व कायम रखा और नेशनल में अपना दावा पुख्ता किया। आये हुए सभी पहलवान साथियों ने भी केजस की खुले दिल से तारीफ की। इंदौर के मल्हार आश्रम में पिछले 4 सालों से वेदप्रकाश ज्वाला जाट से प्रशिक्षण ले रहे है।कोच श्री वेदप्रकाश ने भी केजस की तारीफ करते हुए कहा की मध्यप्रदेश को गोल्ड केजस केलोनिया ही लाकर देंगे।

  • 14
  • अक्टू

भोपाल। सीहोर में पिछले 4 दिनों से चल रही राज्यस्तरीय कुश्ती में पूरे प्रदेश के 51 जिलो से आये बालक बालिकाओं ने अपने हुनर के तेवर दिखाए।

अलग अलग उम्र और वजन में अपनी प्रबल दावेदारी प्रस्तुत कर 11 पहलवानो ने नेशनल कुश्ती में अपना स्थान पक्का किया ।


लड़कियों ने भी दंगल को अपना आदर्श बना अपने प्रतिद्वंद्वी को पछाड़ दिया। बालिकाओं में इस बार 100 का आकड़ा पार कर लिया।
सीहोर में प्रदेश भर के पहलवान अपने कोच के साथ इकठ्ठा हुए।


63 वी राज्य स्तरीय शालेय फ्री स्टाइल एवं ग्रीको रोमन कुश्ती प्रतियोगिता 2017 में अपने अपने दाव पेंच दिखा कर नेशनल में जाने का रास्ता अपने नाम कर लिया और अपने जिले अपने अखाड़े का नाम रोशन किया।


प्रमुख रूप से 54 किलो फ्री स्टाइल में इंदौर के बालक केजस केलोनिया ने अपना सिक्का 10 -0 से बना एकतरफा जीत हासिल की । हर राउंड में केजस केलोनिया ने अपना वर्चस्व कायम रखा और नेशनल में अपना दावा पुख्ता किया। आये हुए सभी पहलवान साथियों ने भी केजस की खुले दिल से तारीफ की। इंदौर के मल्हार आश्रम में पिछले 4 सालों से वेदप्रकाश ज्वाला जाट से प्रशिक्षण ले रहे है।कोच श्री वेदप्रकाश ने भी केजस की तारीफ करते हुए कहा की मध्यप्रदेश को गोल्ड केजस केलोनिया ही लाकर देंगे।

  • 14
  • अक्टू

भोपाल। सीहोर में पिछले 4 दिनों से चल रही राज्यस्तरीय कुश्ती में पूरे प्रदेश के 51 जिलो से आये बालक बालिकाओं ने अपने हुनर के तेवर दिखाए।

अलग अलग उम्र और वजन में अपनी प्रबल दावेदारी प्रस्तुत कर 11 पहलवानो ने नेशनल कुश्ती में अपना स्थान पक्का किया ।


लड़कियों ने भी दंगल को अपना आदर्श बना अपने प्रतिद्वंद्वी को पछाड़ दिया। बालिकाओं में इस बार 100 का आकड़ा पार कर लिया।
सीहोर में प्रदेश भर के पहलवान अपने कोच के साथ इकठ्ठा हुए।


63 वी राज्य स्तरीय शालेय फ्री स्टाइल एवं ग्रीको रोमन कुश्ती प्रतियोगिता 2017 में अपने अपने दाव पेंच दिखा कर नेशनल में जाने का रास्ता अपने नाम कर लिया और अपने जिले अपने अखाड़े का नाम रोशन किया।


प्रमुख रूप से 54 किलो फ्री स्टाइल में इंदौर के बालक केजस केलोनिया ने अपना सिक्का 10 -0 से बना एकतरफा जीत हासिल की । हर राउंड में केजस केलोनिया ने अपना वर्चस्व कायम रखा और नेशनल में अपना दावा पुख्ता किया। आये हुए सभी पहलवान साथियों ने भी केजस की खुले दिल से तारीफ की। इंदौर के मल्हार आश्रम में पिछले 4 सालों से वेदप्रकाश ज्वाला जाट से प्रशिक्षण ले रहे है।कोच श्री वेदप्रकाश ने भी केजस की तारीफ करते हुए कहा की मध्यप्रदेश को गोल्ड केजस केलोनिया ही लाकर देंगे।

पृष्ठ 1 का 7