# Tags

अंक ज्योतिष से ढूंढ सकते है अपना खोया समान

रजनी खेतान

इन्दौर।सामान का खोना/चोरी होना आज के समय मे सामान्य बात है। परन्तु हमारे ऋषि मुनियों ने व पूर्वजों ने वैदिक काल में सामान्य जनमानस के लाभार्थ ऐसे कई सूत्रों को बनाया है जिससे हम लाभ ले सकते है, इसी विधा के अन्तर्गत अंक शास्त्र में वर्णित यह विधा से आप रहस्य जान सकते है |
अंक विद्या में गुम हुई वस्तु के बारे में प्रश्र किया जाए तो उसका जवाब बहुत हद तक सच साबित होता है। जैसे सर्व प्रथम आप 1 से 108 के बीच का एक अंक मन मे सोचे। और उस अंक को 9 से भाग दें। शेष जो अंक आये तो आगे लिखे अनुसार उसका उत्तर होगा।
शेष अंक 1 ( सूर्य का अंक है ) -पूर्व में मिलने की आशा है।
शेष अंक 2 ( चंद्र का अंक है ) -वस्तु किसी स्त्री के पास होने कीआशा है पर वापस नहीं मिलेगी।
शेष अंक 3 ( गुरु का अंक है ) वस्तु वापिस मिल जायेगी। मित्रों और परिवार के लोगों